अंतरराष्ट्रीय कॉफी दिवस का इतिहास और महत्व

1309
01 Oct 2021
2 min read

News Synopsis

आज की भाग दौड़ भरी ज़िन्दगी में आगे बढ़ने की होड़ में हम लगातार काम करते हैं। जाहिर सी बात है, समय-समय पर हमें रिफ्रेशमेंट की जरूरत पड़ती है और दुनिया भर में काफी लोग कॉफी को रिफ्रेशमेंट के तौर पर लेते हैं। कॉफी लोगों को तुरंत एनर्जी देती है और लोग फिर से अपने काम पर लग जाते हैं। दुनिया भर में कॉफी के दीवानों की कमी नहीं है। लोगों को सुबह उठने पर कॉफी चाहिए, काम करते समय नींद आए तो कॉफी चाहिए, आदि। यही कारण है कि कॉफी दुनिया भर में सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली ड्रिंक्स में से एक है।

लंदन में स्थापित अंतरराष्ट्रीय कॉफी संगठन ने 1अक्टूबर, 2015 को अंतरराष्ट्रीय कॉफी दिवस के नाम पर घोषित किया। मगर आज भी अलग-अलग देश अलग-अलग तारीख पर अपना राष्ट्रीय काफी दिवस मनाते हैं। अंतरराष्ट्रीय कॉफी दिवस मनाने की मुख्य वजह है उन सभी किसानों का समर्थन करना, जो अपनी मेहनत से इस खुशबूदार फसल को उगाते हैं। इन किसानों की आजीविका का मुख्य श्रोत कॉफी है इसीलिए आज के दिन लोग उन किसानों की तकलीफ को समझने की कोशिश करते हैं और कॉफी की खेती करने वाले लोगों की सराहना करते हैं।

Podcast

TWN In-Focus