विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस का इतिहास, महत्व और थीम

880
09 Oct 2021
3 min read

News Synopsis

आपने अक्सर देखा होगा कि लोग अपने शारीरिक स्वास्थ्य पर काफी ध्यान देते हैं और कोई शारीरिक बीमारी होने पर अच्छे से अच्छे डॉक्टर को दिखाते हैं लेकिन आज भी लोग मानसिक बीमारियों के बारे में बात नहीं करना चाहते हैं। लोगों की नज़र में मधुमेह, बुखार, हाइपरटेंशन, स्ट्रोक आदि बीमारियां हैं लेकिन डिमेंशिया, डिप्रेशन, इंजायटी, फोबिया आदि बीमारियां नहीं हैं। आपको जानके आश्चर्य होगा कि कभी-कभी तो खुद पीड़ित को ही नहीं पता होता है कि वो किसी मानसिक बीमारी से जूझ रहा है। 

समाज में मानसिक बीमारियां तेजी से बढ़ रही हैं और लोगों को मानसिक स्वास्थ्य और मानसिक बीमारियों के बारे में जागरूक करने के लिए प्रतिवर्ष 10 अक्टूबर को विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। मानसिक स्वास्थ्य दिवस सबसे पहले वर्ष 1992 में मनाया गया था। वर्ष 1992 में कोई निश्चित थीम नहीं थी लेकिन लोगों के बीच इसकी लोकप्रियता को देखते हुए सन् 1994 में इस दिन के लिए थीम रखी गई थी- दुनिया भर में मानसिक स्वास्थ्य सेवाओं की गुणवत्ता में सुधार। विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस को आज दुनिया भर में मनाया जा रहा है और इस साल की थीम रखी गई है- एक असमान दुनिया में मानसिक स्वास्थ्य।

Podcast

TWN In-Focus