जल है तो बेहतर कल है, विश्व जल दिवस

1239
22 Mar 2022
9 min read

Post Highlight

‘रहिमन पानी रखिये, बिन पानी सब सून’। ये दोहा तो आप सब ने सुना ही होगा, जिसका अर्थ है कि बिना जल या पानी के सब सूना है अर्थात जीवन का अस्तित्व ही पानी से है। हम सबको लगता है कि पृथ्वी पर अथाह जल है और इसी सोच के चलते हम सब पानी को लापरवाही से इस्तेमाल करते हैं और बर्बाद करते हैं। हम सब जानते हैं कि पृथ्वी की सतह का दो तिहाई हिस्सा पानी से ढका है जबकि दुनिया का एक प्रतिशत से भी कम पानी पीने योग्य है, इसीलिए दुनिया जल सकंट का सामना कर रही है। पानी बर्वाद होने से हमारी आने वाली पीढ़ी को उनके जीवन के संघर्ष की लड़ाई भी लड़नी पड़ सकती है। इसलिए जितना हो सकते पानी का फ़िज़ूल इस्तेमाल ना करें। विश्व जल दिवस पर आइए जल और जीवन दोनों को बचाने का संकल्प लें। आये साथ ही साथ जानते हैं कुछ आवश्यक। 

Podcast

Continue Reading..

मनुष्य की सबसे ख़राब आदत है कि वह मुफ्त में मिलने वाली वस्तु या संसाधन की बिल्कुल भी परवाह नहीं करता या यूँ कहें कि कदर नहीं करता। जैसे ही उसको वस्तु के कुछ दाम देने होते हैं, तब वह स्वप्न से बाहर आता है और जागते हुए बोलता है, अरे किसने सोचा था कि ये चीजें दुनिया में बिकने लगेगी। फिर चाहे पानी हो या ऑक्सीजन। पृथ्वी पर ऑक्सीजन और उसके बाद जल का यदि कोई आपके सामने नाम ले, तब झट से आपको यह एहसास होगा कि ये जीवन के दो असीम प्राकृतिक संसाधन में से एक हैं जिन्हें भूल के भी छोड़ा नहीं जा सकता। यद्यपि हम सब इन दोनों का प्रयोग इतनी बेहोशी से करते हैं, जिसकी कोई सीमा नहीं। आप स्वयं अपने हृदय पर हाथ रख के बोलिये कि आपने कब कहा होगा इन दोनों के लिए ईश्वर से धन्यवाद, अपवाद छोड़ दिये जायें तो।

भारत के साथ-साथ सारा विश्व ही आज पानी को एक उत्पाद के तौर पर उपभोग water as product कर रहा है, जबकि शायद ही कभी भारत के नागरिकों Indian citizen को इस बात की तनिक भी भनक रही होगी कि पानी भी किसी रोज़ बिकेगा और वो भी 10 रुपये 20 रुपये आदि में। ये कीमत तो बहुत छोटी है कुछ पानी ब्रांड की कीमत इतनी है कि आपको जानकार हैरानी होगी।  

आज पूरा विश्व जल दिवस world water day मना रहा है पर इसको मनाने की आवश्यकता क्यों पड़ी, क्या है इस वर्ष की थीम, और भी बहुत कुछ जो हमें जानना चाहिए तो चलिए जानते हैं आगे,

क्यों मनाते हैं जल दिवस? 

जैसा कि आप सभी जानते हैं किसी भी तरह के संसाधन resources को बचाने और लोगों को जागरूक करने तथा विश्व में उस से जुड़ी समस्या से निपटारा करने के उद्देश्य से हम कई प्रकार के दिवस मनाते हैं। आपको बता दें कि प्रत्येक वर्ष, विश्व जल दिवस 22 मार्च को मनाया जाता है। इसका उद्देश्य विश्व के सभी देशों में स्वच्छ एवं सुरक्षित जल clean and safe water की उपलब्धता सुनिश्चित करवाना है, एवं जल संरक्षण water conservation के महत्व पर भी ध्यान केंद्रित करना है। पहली बार ब्राजील brazil के रियो डी जेनेरियो Rio de Janeiro में वर्ष 1992 में आयोजित पर्यावरण तथा विकास के संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन united nations conference द्वारा आयोजित कार्यक्रम में विश्व जल दिवस मनाने की पहल की गई थी। वर्ष 1993 में संयुक्त राष्ट्र ने अपनी सामान्य सभा के द्वारा निर्णय लेकर इस दिन को वार्षिक कार्यक्रम के रूप में मनाने का निर्णय लिया, इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोगों के बीच में जल संरक्षण तथा साफ पीने योग्य जल का महत्व आदि बताना था।  

1993 में पहली बार विश्व जल दिवस मनाया गया था और संयुक्त राष्ट्र संघ United Nations Organisation ने 1992 में अपने 'एजेंडा 21'में रियो डी जेनेरियो में इसका प्रस्ताव दिया था। संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, लगभग 4 बिलियन लोग वर्ष में कम से कम एक महीने के लिए पानी की भारी कमी का अनुभव करते हैं, जोकि एक बहुत बड़ी समस्या है। लगभग 1.6 बिलियन लोग, यानी दुनिया की आबादी का लगभग एक चौथाई हिस्से में एक स्वच्छ, सुरक्षित जल आपूर्ति करने में समस्याएं आती हैं।

विश्व जल दिवस का महत्व क्या है 

अगर हम जीवन के शुरूआती समय की बात करें तो आप सभी जानते हैं कि पृथ्वी पर जलीय जीवों की उपपत्ति सबसे पहले हुई है। फिर धीरे-धीरे जमीन पर जीवन ने कदम रखे। कहा जाता है कि जलीय जीवों से ही जमीन पर जीवन शुरू हुआ और आज पूरा विश्व जल के संकट से जूझ रहा है उसके कई कारण हैं, इसलिए आज जल एक महत्वपूर्ण विषय बन चुका है। विश्व भर का मानना है कि यदि आज भी हम लोग आंखे नहीं खोलेंगे तो पीने लायक जल इस पृथ्वी पर बचेगा ही नहीं, जिससे सम्पूर्ण विश्व जीवित रहने में असमर्थ होगा। जल की महत्वता को यूँ भी समझ सकते हैं कि अधिकांश संस्कृतियाँ नदी के पानी के किनारे विकसित हुई हैं। दुनिया में, 99% पानी महासागरों, नदियों, झीलों, झरनों आदि जगहों पर विद्यमान है। यद्यपि केवल 1% या इससे भी कम पानी पीने के लिए पृथ्वी पर उपलब्ध है। हालाँकि, पानी की बचत आज की सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता है। पानी के अनावश्यक उपयोग के कारण बहुत से हैं जैसे, बढ़ती आबादी और इसके परिणामस्वरूप बढ़ते औद्योगिकीकरण, शहरी क्षेत्र में वृद्धि आदि। आप सोच सकते हैं कि एक मनुष्य अपने जीवन काल में कितने पानी का उपयोग करता है, किंतु क्या वह थोड़े से भी पानी को बचाने का प्रयास करता है? असाधारण आवश्यकता को पूरा करने के लिए, जलाशय गहरा गया है। इसके परिणामस्वरूप, पानी में लवण की मात्रा तथा विषैलेपन की मात्रा में वृद्धि हुई है।

इस वर्ष की थीम क्या है?

प्रत्येक वर्ष की कोई न कोई थीम होती है। थीम रखने का असल उद्देश्य यह रहता है कि कहाँ पर उस फील्ड में चूक हो रही है, उस पर विशेष ध्यान केंद्रित करना और उसके प्रति लोगों में जागरूकता पैदा करना। वैश्विक जल संरक्षण के वास्तविक क्रियाकलापों को प्रोत्साहन देने के लिये विश्व जल दिवस को संयुक्त राष्ट्र की सामान्य सभा के द्वारा मनाया जाता हैं। इस अभियान को प्रति वर्ष संयुक्त राष्ट्र एजेंसी की एक इकाई के द्वारा विशेष तौर से बढ़ावा दिया जाता है, जिसमें लोगों को जल से संबंधित मुद्दों के बारे में सुनने व समझाने के लिए प्रोत्साहित करने के साथ ही विश्व जल दिवस के लिये अंतरराष्ट्रीय गतिविधियों का समायोजन भी शामिल है। इस कार्यक्रम की शुरूआत से ही विश्व जल दिवस पर वैश्विक संदेश फैलाने के लिये थीम या विषय का चुनाव तथा विश्व जल दिवस को मनाने की सारी जिम्मेवारी संयुक्त राष्ट्र की पर्यावरण तथा विकास एजेंसी की हैl

आप इसे जल कहें पानी कहें या फिर H2O कहें, जिसकी इस वर्ष की थीम है- Groundwater – Making the Invisible Visible

विश्व जल दिवस 2022 का विषय "भूजल - अदृश्य दृश्यमान बनाना" है। मतलब की जो पानी अब दिखाई नहीं देता जोकि इतना गहरे तल में चला गया है उसको फिर से दृश्य करने का प्रयास किया जाना। मतलब कि भूजल अदृश्य है, लेकिन इसका प्रभाव हर जगह दिखाई देता है। हमारे पैरों के नीचे, भूजल एक छिपा हुआ खजाना है जो हमारे जीवन को समृद्ध करता है। दुनिया में लगभग सभी तरल मीठे पानी भूजल है। जैसे-जैसे जलवायु परिवर्तन बुरे से बुरा होता जाएगा, भूजल अधिक से अधिक महत्वपूर्ण होता जाएगा। हमें इस बहुमूल्य संसाधन का सतत प्रबंधन करने के लिए मिलकर काम करने की आवश्यकता है। याद रहे भूजल दृष्टि से बाहर हो सकता है, लेकिन यह दिमाग से बाहर नहीं होना चाहिए। 

5 सबसे महंगे दाम में बिकने पानी की बोतल  

  • Acqua di Cristallo Tributo a Modigliani 

इस पानी के 750 ml की कीमत लगभग 43,74,240 रुपये है 

Acqua di Cristallo Tributo a Modigliani पूरी दुनिया में सबसे महंगा, बोतल में बिकने वाला पानी है। पानी फिजी और फ्रांस में एक नेचुरल स्परींग से आता है, इसकी बोतल 24 कैरेट सोने से बनी हुई है। इस बोतल की पैकिंग की किमत ही सबसे ज्यादा है। वहीं इसके पानी को भी विशिष्ट स्वाद वाला माना जाता है। 

  • Kona Nigari Water 

दूसरी सबसे महंगी बोतल जिसकी कीमत है 29,306 रुपये में 750ml

कोना नागरि पानी हवाई (Hawai) से है और प्लास्टिक की बोतलों में बेचा जाता है। इस पानी का इस्तेमाल वजन कम करने के लिए जाता है इससे न केवल आपकी एनर्जी बढ़ती है। बल्कि आपकी त्वचा भी निखरती है। ये पानी हवाई द्वीप से आता है, ये पानी अन्य पानी की तुलना में काफी तेजी से हाइड्रेट करता है। 

  • फिलिको Fillico ज्वेल वॉटर 

ये तीसरे नम्बर पर सबसे महंगा पानी है जिसकी कीमत है 15,965 रुपये में 750 ml

ये जपानी वाटर ब्रेंड है, इसे स्वारोवस्की क्रिस्टल से सजाया जाता है जोकि एक आइडल गिफ्ट है। मार्केट में इस बोतल के लिमिटेड एडिशन है। पानी से ज्यादा इसकी पैकिंग की अहमियत है। इस पानी की बोतल को देखकर ऐसा लगता है जैसे इसे किसी राजा या रानी के लिए बनाया गया हो।  इस बोतल को गोल्डन क्राउन से भी कवर किया गया है, जिसका पानी ओसाका के पास रोक्को माउंटेन से आता है। इस पानी को ग्रेनाइट के माध्यम से फ़िल्टर किया जाता है और इसमें काफी ऑक्सीजन होती है। 

इस पानी की कीमत है, 2916 रुपये में 750 ml

BlingH20 पानी संयुक्त राज्य अमेरिका से आता है। जिसका 9 बार प्यूरिफिकेशन किया जाता है। इस पानी को बहुत बार फिल्टर और प्यूरिफाई किया जाता है। इस बोतल को ब्लिंग-ब्लिंग से सजाया जाता है, जैसे की यह कोई शैंपेन की बोतल हो।

इस पानी की कीमत है, 1020 रुपये में 750 ml

ये एक सेल्फ- स्प्रुंग पानी है, जो कनाडा से आता है जिसकी कीमत 14 डॉलर प्रति 750 मिलीलीटर है। 

वैसे तो काफी सारी पानी ब्रांड हैं, पर ये सबसे महंगी ब्रांड्स हैं। आप सोचिये जहाँ एक ओर आज भी दुनिया में लोग पानी के लिए लम्बी-लम्बी कतारों में खड़े होकर पानी भरते हैं वहीँ एक ओर कुछ लोग इतना महंगा पानी पीते हैं जितना तो लोग शायद जीवन भर में कमा भी नहीं पाते। यही विश्व का सत्य है, मनुष्यजाति का यही रूप आज समूचे विश्व को खतरे में डालने हेतु काफी है। 

Think with Niche पर आपके लिए और रोचक विषयों पर लेख उपलब्ध हैं एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक पर क्लिक करे-

International Day of Happiness-आओ बाटें खुशियां


https://www.author.thinkwithniche.com/allimages/project/thumb_6ce3dinternational-day-of-happiness-let's-share-happiness.jpg

TWN In-Focus