Sustainable Business Growth में लीडरशिप की भूमिका

1313
04 Mar 2022
4 min read

Post Highlight

यह कॉलम माननीय Columnist विनीता कुकरेती जी द्वारा दिया गया है, इसमें उन्होंने सतत व्यापार विकास में Leadership की भूमिका के बारे में चर्चा की है। विनीता एक वरिष्ठ मैनेजमेंट रणनीतिकार मानव संसाधन प्रबंधक Senior Management Strategic Human Resource Professional हैं, जिनके पास मानव संसाधन प्रबंधन और व्यवसाय परामर्श में 20 वर्षों का अनुभव है। सतत व्यापार विकास में लीडरशिप Leadership की भूमिका समझने के लिए पढ़ते रहिए -Think With Niche

यह लेख  विनीता जी के इंग्लिश लेख का मंजू गुप्ता के द्वारा किया गया हिंदी रूपांतरण  है।

If you want to read this article in English then please click on the link given at the end of this article.

Podcast

Continue Reading..

जलवायु परिवर्तन (Climate change) और वैश्विक महामारी (Global pandemic) के चलते दुनिया में व्यापार जगत (Business world) बड़े पैमाने पर परिवर्तन के दौर से गुजर रहा है। व्यापार जगत के दिग्गज या लीडर्स (Business leaders) इस कठिन वक्त में व्यवसाय के निरंतर विकास (Sustainable development) पर आत्मनिरीक्षण (Introspect) कर रहे हैं, और अपनी बुद्धिमत्ता से सतत (Sustainable), निष्पक्ष (Fair) और बेहतर अर्थव्यवस्थाओं और सामाजिक प्रणालियों (social systems) के निर्माण की दिशा में प्रयास कर रहे हैं।
बिजनेस लीडर्स (ज्यादातर सीईओ) CEO के लिए यह नया बेंचमार्क उन्हें आत्मनिरीक्षण करने के लिए प्रोत्साहित (Encourage) कर रहा है कि बाजार पर पड़ रहे संकट का कारण क्या है और समाधान खोजने के लिए वे किस तरह सक्रिय भूमिका निभा सकते हैं।  बिजनेस लीडर्स  वित्तीय प्रदर्शन (Financial performance), दीर्घकालीन सतत विकास और समाज के कल्याण को ध्यान में रखते हुए तेजी से काम कर रहे हैं। इस प्रयास को सफल बनाने के लिए कॉर्पोरेट (Corporate), सरकार (Government) और समाज (Society) के बीच एक सुनियोजित प्रयास (Well-orchestrated) की आवश्यकता है। और मुख्य रूप से "ट्रिपल पी" (Triple P) Planet, Profit, और People पर फोकस करना है।

सतत नेतृत्व: Sustainable leadership

सतत नेतृत्व (Sustainable leadership) भविष्य की प्रतिस्पर्धात्मकता (Future competitiveness) का अभिन्न अंग है और आगे की सोच वाली रणनीतियों (Forward-thinking strategies) पर निर्भर करता है। महामारी के बाद से शुरू होने वाले संगठनों के पास अब पुराने सामान्य दिनों (Old Normal) में वापस आने का विकल्प नहीं है। बिजनेस लीडर्स  के लिए अब यह अनिवार्य हो गया है कि वे अपने दीर्घकालिक उद्देश्य-आधारित (Long-term purpose-led), मूल्य निर्माण रणनीतियों (Value creation strategies) पर अधिक काम करें। इसका प्रारंभिक बिंदु एक गहरी अनुभूति है कि "नया-सामान्य" (New Normal) अब आर्थिक, सामाजिक और जलवायु परिवर्तन (Climate evolution) के साथ ही आगे बढ़ेगा। 

इस समय के दौरान, व्यापार जगत के लीडर्स एक नई मूल्य श्रृंखला बनाने, नए बाजार क्षेत्रों का विस्तार करने और बाजार में प्रतिस्पर्धा करने के तरीके को बदलने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं।

सतत व्यापार विकास के लिए ध्यान देने योग्य प्रमुख बातें (Key Areas of Focus for Leadership to Ensure Sustainable Business Growth) :

  • स्थिर विकास चरणों (Steady growth stages) के अनुकूल एक उभरते ऑपरेटिंग मॉडल (Operating model) का निर्माण करना जो संकट के समय में भी खड़ा रह सके।
  • नए बाजार और पोर्टफोलियो दृष्टिकोण (New market and Portfolio approaches) पर रणनीति बनाकर संकट के समय में अवसर तलाशना।
  • इनोवेटिव लीडर्स होने के नाते कर्मचारियों के प्रति संवेदना दिखाना और वैश्विक जागरूकता को बढ़ाना।
  • भविष्य के मेगा-ट्रेंडों के उभरते व्यापार मॉडल (Evolving business model) के प्रभाव को समझना जो आने वाले दिनों में बाजार की स्थिति को प्रभावित करेगा।
  • लीडर्स न केवल रचनात्मकता के भागीदारी होते हैं बल्कि लोगों को अराजकता, अनिश्चितता और निरंतर विकास (Embrace chaos, Uncertainty, Constant evolution) के साथ काम करने के लिए भी प्रेरित करते हैं।
  • वर्तमान और भविष्य के संगठन और बाजार की मांगों को पूरा करने के लिए कॉर्पोरेट संस्कृति (Redefining corporate culture) को फिर से परिभाषित करना।
  • नई कौशल आवश्यकताओं और सही क्षमता निर्माण सुनिश्चित करने के लिए भविष्य-आधारित संसाधन तैयार करना।
  • एक अच्छी मार्केट-रेडी रणनीति (Market-ready strategy) बनाने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाना।
  • सतत बिज़नेस चलाने लिए विविधता (Increasing diversity) बढ़ाने पर ध्यान देना।
  • कॉरपोरेट गवर्नेंस फ्रेमवर्क (Corporate governance framework) पर ज्यादा फोकस करना।
  • परियोजना को मजबूत बनाना और प्रबंधन क्षमताओं को बदलना।
  • उद्देश्यपूर्ण संचार और समय पर रिपोर्टिंग करना।
  • नेतृत्व प्रदर्शन प्रशिक्षण (Leadership performance training) में निवेश करना।
  • बाजार के नुकसान को डिकोड करने के लिए इंडस्ट्री नेटवर्क (Industry network) बनाना।
  • भविष्य में रोजगार की संभावनाओं के लिए स्नातक और एमबीए पाठ्यक्रम (Undergraduate and MBA curriculum) में स्थिरता की अवधारणाओं को एम्बेड करने में निवेश करना।
  • संगठन की सतत विकास यात्रा में कर्मचारियों को शामिल करना (Engage employees).

Sustainable leadership, sustainable performance द्वारा विकसित होती है। ये कुछ प्रमुख परिवर्तन नियम हैं जो अल्पकालिक प्राथमिकताओं के साथ-साथ विकास के लिए दीर्घकालिक संगठनात्मक (long-term organizational) आवश्यकता को भी संतुलित करते हैं। इसके लिए सामूहिक नेतृत्व की आवश्यकता होती है जो कल्पना को वास्तविकता में बदलने के लिए मानसिक-बदलाव और सामाजिक प्रभाव (Mindset-shift and social influence) पैदा करता है।


आप विनीता कुकरेती जी को लिंक्डइन पर भी फॉलो कर सकते हैं:  
https://www.linkedin.com/in/vineeta-kukreti-she-her-36441775/ 


कृपया ध्यान दें:
हम थिंक विथ नीस में अपने प्लेटफार्म पर उद्योग विशेषज्ञों के विचारों को साझा करते हैं। आइए हम सामूहिक रूप से वैश्विक जागरूकता के मंच का निर्माण करें!

हमें अपनी बात भेजने के लिए editor@thinkwithniche.com पर सम्पर्क करें। 

यह लेख विनीता कुकरेती जी द्वारा लिखे गए लेख का हिंदी रूपांतरण है। इसे इंग्लिश में पढ़ने के लिए कृपया नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें : Please click on the link below to read it in English

Role of Leadership in Sustainable Business Growth

TWN Ideas