भारत में स्टार्टअप इकोसिस्टम और शीर्ष स्टार्टअप

3546
04 Mar 2023
6 min read

Post Highlight

आज स्टार्टअप कंपनियों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। ये स्टार्टअप भारत की प्रगति के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि हैं। क्योंकि एक देश के विकास में इनका बहुत बड़ा हाथ होता है। अच्छे शासन और अच्छे सिस्टम के कारण भारत अन्य देशों से काफी आगे बढ़ चुका है। आज भारत विभिन्न क्षेत्रों में असाधारण कंपनियों को बढ़ावा दे रहा है।

स्टार्टअप इंडिया #Startup India भी भारत सरकार की एक पहल है। इस योजना का उद्देश्य देश में नवाचार और स्टार्टअप Innovation and Startups के पोषण के लिए एक मजबूत इको-सिस्टम का निर्माण करना है। एक छोटे स्तर से शुरू हुई कंपनियां आज के दिन अरबों डॉलर का बिज़नेस कर रही हैं। इन स्टार्टअप की वजह से देश का आर्थिक विकास हो रहा है और बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर उत्पन्न हो रहे हैं।

रिकॉर्ड लिस्टिंग भारतीय यूनिकॉर्न स्टार्टअप Indian Unicorn Startup कंपनियां और भारतीय मार्केट के लिए यह एक नए युग की शुरुआत है। भारत अब यूनिकार्न्स के मामले में पूरे विश्व में तीसरे नंबर पर आ चुका है। इस आर्टिकल के द्वारा आप भारत में स्टार्टअप इकोसिस्टम और शीर्ष स्टार्टअप India Startup Ecosystem and Top Startup in India और यूनिकॉर्न के बारे में जान सकते हैं। 

#StartupIndia
#IndianUnicornStartup
#DigitalGovernance
#IndianStartupEcosystem

Podcast

Continue Reading..

देखा जाये तो आज हमारे देश में कई नयी-नयी प्रतिभाएं जन्म ले रही हैं और ये प्रतिभाएं सफलता की नयी इबारत लिख रहे हैं। जिसके कारण भारत देश में आज शीर्ष स्टार्टअप कंपनियों Top Startup Companies की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है। भारत स्टार्टअप्स के लिये एक 'हॉटस्पॉट' बन गया है।

भारत ने आज यूनिकॉर्न स्टार्टअप्स Unicorn Startups के क्षेत्र में एक अलग ही स्थान हासिल कर दिया है। यह भारत के लिए एक बहुत ही बड़ी सफलता है कि यूनिकॉर्न स्टार्टअप के क्षेत्र में भारत एक साल में चौथे से तीसरे स्थान पर पहुंच चुका है। पिछले कुछ वर्षों में भारत के कुछ बेहतरीन विश्व स्तरीय स्टार्टअप best world class startup बनाए हैं।

वर्ष 2021 में ही भारतीय स्टार्टअप्स Indian Startups ने 23 बिलियन डॉलर से अधिक की राशि जुटाई और 33 स्टार्टअप कंपनियों का तो प्रतिष्ठित 'यूनिकॉर्न क्लब' 'Unicorn Club' में भी प्रवेश हुआ। वर्ष 2022 में अब तक लगभग 13 अन्य स्टार्टअप यूनिकॉर्न क्लब में शामिल हो चुके हैं। चलिए आज इस आर्टिकल में आप भारत में शीर्ष स्टार्टअप के बारे में विस्तार से जानेंगे। 

भारत में स्टार्टअप इकोसिस्टम और शीर्ष स्टार्टअप India Startup Ecosystem and Top Startup in India

स्टार्टअप क्या है ? What is Startup?

स्टार्टअप किसी भी व्यापार के उस शुरुआती चरण को कहा जाता है जब वह व्यापार विकसित होने के लिए तैयार हो रहा होता है। स्टार्टअप मतलब किसी इंसान या एक समूह के पास किसी भी समस्या का एक अनोखा या इनोवेटिव समाधान Innovative solutions होता है जिसे वे आगे जाकर एक बड़े बिजनेस का रूप भी दे सकते हैं।

स्टार्टअप इंडिया को प्रॉफिट और बिजनेस के अलावा इस मुकाम से भी शुरू किया गया था ताकि भारत की युवा पीढ़ी को नौकरी खोजने और अन्य परेशानियों का सामना ना करना पड़े। अब भारतीय यूनिकार्न्स कंपटीशन और रिस्क लेने की प्रकृति में काफी अच्छा सामर्थ्य दिखा रहे हैं।

वर्ष 2022 में अप्रैल तक 13 अन्य स्टार्टअप यूनिकॉर्न क्लब में शामिल हो चुके हैं। यूनिकॉर्न भारत में अलग-अलग सेक्टर्स में आ रहे हैं।

स्टार्टअप इंडिया Startup India भारत सरकार की एक प्रमुख योजना A flagship scheme of the Government of India है जिसका उद्देश्य देश में स्टार्टअप्स और नये विचारों के लिए एक मजबूत पारिस्थितिकी तंत्र का निर्माण करना building a strong ecosystem है जिससे देश का आर्थिक विकास economic development of the country हो एवं बड़े पैमाने पर रोजगार के अवसर employment opportunities उत्पन्न हों।

यानि देश में नवाचार और स्टार्टअप के पोषण के लिए एक इको-सिस्टम का निर्माण करना है जो स्थायी आर्थिक विकास को बढ़ावा देंगे। साथ ही इस योजना का उद्देश्य स्टार्टअप को बढ़ावा देना और धन का सृजन करना Promote startups and create wealth है। आज भारतीय स्टार्टअप अपने पंखों को दूर-दूर तक फ़ैलाने में कामयाब हो रहा है। जिसकी वजह से भारत स्टार्टअप्स के लिये एक 'हॉटस्पॉट' बन गया है।

स्टार्टअप इंडिया कार्यक्रम का उद्घाटन 16 जनवरी 2016 को भारत के पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली Arun Jaitley द्वारा किया गया था। इस स्टार्टअप इंडिया पहल की जो कार्य योजना है वो तीन क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित कर रही है-

1-सरलीकरण और हैंडहोल्डिंग,simplification and handholding, 

2-वित्त पोषण सहायता और प्रोत्साहन, funding support and incentives,

3-उद्योग-अकादमी भागीदारी और ऊष्मायन। Industry-academy partnership and incubation. 

इस योजना ने भारत को बदलने के लिए कई कार्यक्रम शुरू किए हैं। Startup शुरू करने के लिए आपके पास एक अच्छी टीम होना बेहद जरूरी है। इसके लिए आप उन लोगों की तलाश करें जिनके साथ आप अपने काम को अच्छे से कर सकें और वो काम में पारदर्शिता दिखायें।

इसके लिए आपको अपनी ड्रीम टीम की तलाश करनी होगी। स्टार्टअप कंपनी एक ऐसी कंपनी होती है जो अपने संचालन के इनिशियल स्टेज पर होती है और कुछ लोग मिलकर इसकी नींव रखते हैं। 

यानि जब कोई व्यापार शुरू किया जाता है तो वह अपने आप को बाजार में सही से स्थापित करने के लिए कुछ समय लेता है और इस समय के दौरान उस व्यापार को उद्योग न कहकर स्टार्टअप की श्रेणी में रखा जाता है। उस वक्त उस नए स्टार्टअप को सरकार द्वारा टैक्स इत्यादि में विशेष छूट देती है जिससे वह स्टार्टअप बाजार की प्रतिस्पर्धा में अपनी जगह बना सके। बस इसी नए उद्योग को स्टार्टअप कहा जाता है।

ग्लोबल स्टार्टअप इकोसिस्टम रैंकिंग Global Startup Ecosystem Ranking

केरल Kerala वैश्विक रिपोर्ट Global Report में एशिया Asia में शीर्ष पर है। राज्य को ग्लोबल स्टार्टअप इकोसिस्टम रिपोर्ट Global Startup Ecosystem Report (जीएसईआर) में एशिया में पहले स्थान पर रखा गया है। इससे केरल के स्टार्ट-अप इकोसिस्टम को बढ़ावा मिला है। नीति सलाहकार और अनुसंधान संगठन स्टार्टअप जीनोम और ग्लोबल एंटरप्रेन्योरशिप नेटवर्क द्वारा संयुक्त रूप से तैयार जीएसईआर में वैश्विक रैंकिंग में राज्य को चौथा स्थान दिया गया है।

वहीं 2020 में प्रकाशित पहले जीएसईआर में केरल को एशिया में 5वां और दुनिया में 20वां स्थान मिला था। बेंगलुरु के तकनीकी पारिस्थितिकी तंत्र का मूल्य The value of Bengaluru's tech ecosystem, $ 105 बिलियन है जो सिंगापुर Singapore से $ 89 बिलियन और टोक्यो से $ 62 बिलियन से अधिक है। इसके अलावा पॉलिसी एडवाइजरी और रिसर्च फर्म स्टार्टअप जीनोम Startup Gnome द्वारा जारी रिपोर्ट के अनुसार, बेंगलुरु शहर ग्लोबल स्टार्टअप इकोसिस्टम रैंकिंग Global Startup Ecosystem Ranking में 22वें नंबर पर पहुंच गया है।

यूनिकॉर्न स्टार्टअप क्या है? What is Unicorn Startup?

जब कोई कंपनी अपना वैल्यूएशन एक बिलियन डॉलर ($1 billion) से ज्यादा बना लेती है तब वह कंपनी यूनिकॉर्न Unicorn की लिस्ट में आ जाती है। आशय यह कि तब कंपनी का ग्रोथ होने वाला होता है। जब किसी कंपनी की ग्रोथ तेजी से होने लगती है तब इन्वेस्टर Investor उस कंपनी में अपना पैसा लगाना शुरू कर देता है।

भारत ने स्टार्टअप के क्षेत्र में काफी तीव्रता पूर्वक तरक्की की है। आज यूनिकॉर्न स्टार्टअप के क्षेत्र में भारत सबसे अव्वल होने में ज्यादा दूर नहीं है, क्योंकि सिर्फ एक साल में वह चौथे से तीसरे स्थान पर पहुंच चुका है। आज की बात करें तो भारत विश्व के टॉप तीन देशों में शुमार किया जा रहा है, जिसमें -

पहले नम्बर पर संयुक्त राज्य अमेरिका United States at number one, 

दूसरे नम्बर पर रिपब्लिक ऑफ चीन Republic of China at number two

तीसरे नम्बर पर भारत India at number three है।

दरअसल जब कोई भी प्राइवेट कंपनी जिसका वैल्यूएशन, एक बिलियन डॉलर से ज्यादा हो जाता है, उन कंपनी को फाइनेंशियल दुनिया में यूनिकोर्न स्टार्टअप Unicorn Startup कहते हैं। एक छोटे से आईडिया से शुरू हुई कंपनी आज के दिन अरबों डॉलर का बिज़नेस कर रही है और इन्हीं को यूनिकॉर्न स्टार्टअप कहा जाता है। ये कम्पनियां इस बात की प्रतीक मानी जाती जाती हैं कि विश्व में किस देश की कम्पनियां कितनी अधिक समृद्ध हैं।

इन स्टार्टअप कंपनियों में डिजिटल गवर्नेंस digital governance के अलावा टेक्नोलॉजी का भी अहम रोल रहा है। इसी की वजह से ही भारत में स्टार्ट अप इकोसिस्टम इतना विकसित हुआ है। 2020 में भारत में था 21 यूनिकार्न स्टार्टअप। 2021 में 44 भारतीय स्टार्टअप ने यूनिकॉर्न का दर्जा हासिल किया है। बेंगलुरू (कर्नाटक) को भारत की यूनिकॉर्न कम्पनियों की राजधानी capital of unicorn companies of India समझा जाता है। 

यह गर्व की बात है कि विश्व स्तर पर हर 10 यूनिकॉर्न में से एक भारतीय है। जनवरी से 1 जून के बीच 14 भारतीय कंपनियां यूनिकॉर्न बन गईं। यानि देश ने साल के पहले पांच महीनों में कम से कम 14 यूनिकॉर्न जोड़े हैं। भारत में आज 70,000 से अधिक डीपीआईआईटी-मान्यता प्राप्त स्टार्टअप हैं। 50 प्रतिशत से अधिक स्टार्टअप टियर 2 और 3 शहरों में देखे जाते हैं जो बड़ी सफलता का संकेत हैं।

लगभग 47 प्रतिशत स्टार्टअप व्यवसायों में महिलाएं निदेशक या सीईओ हैं। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मुताबिक रिकॉर्ड लिस्टिंग भारतीय यूनिकॉर्न स्टार्टअप कंपनियां और भारतीय मार्केट के लिए एक नए युग की शुरुआत है। भारत के यूनिकॉर्न क्लब में अब 101 स्टार्टअप्स हैं।

ये कुछ यूनिकॉर्न क्लब की स्टार्ट अप कंपनियां जो आज भारत में काफी आगे बढ़ चुकी हैं: Paytm, Swiggy, Quikr, Ola, Zomato, Flipkart, BYJU’s, Justdial आदि। विश्लेषक बताते हैं कि भारत में किसी भी स्टार्टअप को यूनिकॉर्न के स्तर तक पहुंचने में तकरीबन सात साल का वक्त लगता है, जबकि चीन में यह साढ़े पांच साल और अमेरिका में साढ़े छह साल है।

भारत में स्टार्टअप जिन्होंने पूरी दुनिया को बदल कर रख दिया है। भारत ने दुनिया के कुछ बेहतरीन विश्व स्तरीय स्टार्टअप बनाए हैं। आज के समय में भारत में यह माना जा रहा है कि सिलिकॉन वैली Silicon Valley की तरह ही यहाँ पर भी काफी कुछ विकसित हो सकता है। इन शीर्ष भारतीय स्टार्टअप्स के बारे में जानते हैं जो आज बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं -

Udaan-Udaan

एक भारतीय Startups है जो बैंगलोर भारत में स्थित है। 2016 में अपनी स्थापना के बाद से उड़ान ने निवेशकों की एक विस्तृत श्रृंखला को आकर्षित किया है। इसके फाउंडर Amod Malviya, Sujeet Kumar, Vaibhav Gupta हैं। 

Ola-

यह फर्म कैब-हेलिंग, बाइक, बस और बहुत कुछ किराए पर लेने का साधन प्रदान करती है। आप यह सब स्मार्टफोन ऐप की सुविधा से कर सकते हैं। जिससे आप भारत और अन्य जगहों पर पहुंचना काफी आसान हो जाता है। इसके फाउंडर Ankit Bhati, Bhavish Aggarwal हैं। 

Dunzo

यह 2015 में स्थापित हुआ था। भारत के बैंगलोर में स्थित एक आपूर्ति और ई-कॉमर्स व्यवसाय है। 

MoneyTap-MoneyTap

एक बैंगलोर स्थित भारतीय कंपनी है। आर्थिक रूप से वंचितों को सरल वित्तपोषण प्रदान करना मनीटैप को भारत में स्टार्ट-अप का एक प्रमुख उदाहरण बनाता है। इसके फाउंडर Anuj Kacker, Bala Parthasarathy, Kunal Varma हैं। इसकी स्थापना 2015 में की थी। 

Yellow Messenger

 इसकी स्थापना 2016 में की गयी थी। Yellow Messenger एक बैंगलोर, भारत-आधारित IA प्रौद्योगिकी फर्म है। 

CRED -CRED 

की स्थापना 2018 में की गयी थी। यह बैंगलोर, भारत में स्थित एक भारतीय स्टार्ट-अप Startups है। फर्म का उद्देश्य क्रेडिट कार्ड के उपयोगकर्ताओं को समय पर अपने क्रेडिट कार्ड शुल्क का भुगतान करने के लिए प्रोत्साहित करना है। 

Also Read: सिंगापुर में स्टार्टअप्स का अनूठा इकोसिस्टम

AddressHealth 

इसकी स्थापना 2010 में की गयी थी। ये स्कूलों और क्लीनिकों में स्वास्थ्य देखभाल पर ध्यान केंद्रित करते हैं। 

Zomato

Zomato की स्थापना 2008 में की गयी थी। यह दीपिंदर गोयल, पंकज चड्ढा और गुंजन पाटीदार द्वारा स्थापित एक भारतीय बहुराष्ट्रीय रेस्तरां एग्रीगेटर और फूड डिलीवरी कंपनी है।

Wow! Momo 

यह एक खाद्य श्रृंखला कंपनी है जो बहुत तेजी से पॉपुलर हुई है। इसकी शाखाएँ दिल्ली, चेन्नई, कोच्चि और कई अन्य स्थानों में पाई जा सकती हैं।

One97 (Paytm)-

यह कंपनी एक भुगतान समाधान है जो व्यक्तियों को म्यूचुअल फंड का भुगतान करने में सक्षम बनाती है। इसकी स्थापना 2010 में की गयी थी।

FreshToHome

इसकी स्थापना 2014 में की गयी थी। यह मीट और फिश डिलीवरी का बिजनेस है। 

Myra

मायरा एक इंटरनेट दवा की दुकान है। इसमें दवा आपके घर तक बहुत जल्दी पहुंचाई जाती है। 

Cure.Fit

इसकी स्थापना 2016 में की गयी थी। कंपनी अपने तीन उत्पादों के माध्यम से डिजिटल और ऑफलाइन फिटनेस, पोषण और मनोवैज्ञानिक कल्याण अनुभव दोनों प्रदान करती है: cul.fit, ईट.फिट और माइंड.फिट।

Shuttl

इसकी स्थापना 2016 में की गयी थी। Shuttl एक एप्लिकेशन के आधार पर कंप्यूटर के लिए एक परिवहन सेवा है।

Cleardekho

ClearDekho भारत में सभी बजटों के लिए चश्मों का सबसे बड़ा ब्रांड है। उनके आईवियर की गुणवत्ता में कई स्टाइल शामिल हैं। 

Schbang

श्बैंग एक डिजिटल मार्केटिंग एजेंसी है जिसमें हॉट व्हील्स, अमेज़ॅन फैशन और रॉ प्रेसरी सहित प्रमुख कंपनियां हैं। इसकी स्थापना 2015में की गयी थी।

InCred

Incred एक वित्तीय सेवा फर्म है जो प्रौद्योगिकी और डेटा विज्ञान का उपयोग करके वित्तपोषण को त्वरित और आसान बनाती है। इसकी स्थापना 2016 में की गयी थी। 

DocTalk

डॉकटॉक भारत में डॉक्टरों के लिए एक सीआरएम और रोगी प्रबंधन मंच है, जो भारत में सबसे बड़े स्टार्टअप में से एक है। इसकी स्थापना 2016 में की गयी थी।

Vedantu

वेदांतु भारत के महानतम प्रोफेसरों से ऑनलाइन शिक्षण पाठ्यक्रम और लाइव परीक्षा की तैयारी की एक विस्तृत पसंद प्रदान करता है।

Meesho

Meesho भारत का सबसे बड़ा पुनर्विक्रेता मंच है। जहां गृहिणियां फेसबुक, व्हाट्सएप पर बिक्री करती हैं। 

PharmEasy

यह भारतीय कंपनी भारत के अग्रणी फार्मास्युटिकल एग्रीगेटर्स में से एक है। यह स्थानीय फार्मेसी स्टोर और निदान केंद्रों से जुड़ने में सहायता करते हैं।

Policybazaar

पॉलिसीबाजार भारत में बीमा एग्रीगेटर्स की सबसे बड़ी और सबसे महत्वपूर्ण वेबसाइट है।

Nykaa

Nykaa सुंदरता के लिए अग्रणी ऑनलाइन गंतव्य है। यह पुरुषों और महिलाओं के लिए सबसे कम कीमत पर सौंदर्य और स्वास्थ्य संबंधी वस्तुएं प्रदान करता है। 

Urban Ladder

अर्बन लैडर बैंगलोर में स्थित एक ऑनलाइन फर्नीचर फर्म है।इसकी स्थापना 2012 में की गयी थी।

Oyo

Oyo रूम्स, जिसे ओयो होटल्स एंड होम्स के नाम से भी जाना जाता है। यह एक भारतीय बहुराष्ट्रीय हॉस्पिटैलिटी श्रंखला है जो लीज्ड और फ्रैंचाइज़ी होटलों, घरों और रहने की जगह है। इसकी स्थापना 2013 में की गयी थी।

अन्य स्टार्टअप्स जिन्होंने काफी नाम कमाया है जैसे - Bombay Shaving Company, Zestmoney, Xpressbees,TravelTriangle,Sharechat, Cars24, Dailyhunt, Instavans, Loan Frame आदि हैं। 

इसके अलावा ज़ेरोधा, पर्पल, मेकमायट्रिप, फिजिक्स वाल्लाह, Zerodha, Purple, MakeMyTrip, Physics Wallah,ऑक्सिजो फाइनेंशियल सर्विस, गेम्स 24×7, यूनिफॉर सॉफ्टवेयर सिस्टम, लिवस्पेस Livspace, पॉलीगोन, फ्रेक्टल, डार्विनबॉक्स, मामा अर्थ, प्रिस्टाइन केयर, क्योर फिट, रेबल फूड्स, ब्लिंकीट, ऑफबिजनेस, अर्बन कंपनी, गपशप, शेयर चैट, फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस, फाइव स्टार बिजनेस फाइनेंस, क्विकर, Polygon, Fractal, Darwinbox, Mama Earth, Pristine Care, Cure Fit, Rebel Foods, Blinkit, OffBusiness, Urban Company, Gossip, Share Chat, Five Star Business Finance,Quikr, पाइन लैब्स, cars24 आदि

Also Read: स्टार्टअप में एम्प्लॉयर ब्रैंडिंग की भूमिका

भारत में स्टार्ट-अप कहाँ स्थित हैं?

ये भारत के कुछ बड़े शहर हैं जहाँ स्टार्टअप स्थित हैं:

• बैंगलोर Bangalore

बैंगलोर में कई प्रकार के उद्योग और फर्म हैं। स्टार्टअप और स्थापित कंपनियों के लिए यह बहुत ही बेहतरीन जगह है। बैंगलोर शहर को भारत की सिलिकॉन वैली कहा जा सकता है। बैंगलोर ओला और फ्लिपकार्ट जैसे शीर्ष उद्योगों के आवास वाले शहरों में से एक है। 

• मुंबई Mumbai

मुंबई जिसे सपनों का शहर कहा जाता है और यह देश की आर्थिक राजधानी भी है। यहाँ पर भी कई स्टार्ट-अप हैं जो वित्त और निवेश में हैं। यहाँ आपको JustDial और Cleartrip जैसे स्टार्टअप मिल सकते हैं। 

• दिल्ली क्षेत्र Delhi

दिल्ली में स्थित नवोदित स्टार्टअप्स को सरकार ने बड़ी मदद दी है। यहाँ पर भी कई स्टार्ट-अप हैं जो फल-फूल रहे हैं और दिल्ली हमेशा से भारत का कॉमर्स हब रहा है। 

• हैदराबाद Hyderabad

इस शहर को मोतियों का शहर भी कहा जाता है। इन शहर में भी स्टार्ट-अप और निवेश की संख्या में भी काफी वृद्धि हुई है।

बैंगलोर के बाद, इस शहर को भारतीय का आईटी हब भी माना जाता है, माइक्रोसॉफ्ट, गूगल Microsoft, Google और अन्य तकनीकी कंपनियां भी यहां स्थित हैं। 

इसके अलावा कई स्टार्ट-अप इंदौर, गुरुग्राम, गोवा, अहमदाबाद, पुणे, चेन्नई और लखनऊ Indore, Gurugram, Goa, Ahmedabad, Pune, Chennai and Lucknow जैसे शहरों में भी स्थित हैं।

TWN Reviews