इनफ्लुएंसर मार्केटिंग : फायदे और नुकसान

304
14 Jun 2022
7 min read

Post Highlight

इन्फ्लुएंसर मार्केटिंग Influencer Marketing एक प्रकार का सोशल मीडिया मार्केटिंग है जिसमें ब्रांड्स इन्फ्लुएंसर से एंडोर्समेंट Endorsement करवाते हैं। आपने अपने पसंदीदा यूट्यूबर के वीडियो में नोटिस किया होगा कि वे कभी-कभी अपने वीडियो में किसी स्पेसिफिक प्रोडक्ट को इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं, उसकी तारीफ करते हैं और आपको ये बताते हैं कि वे खुद उन प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। वे ऐसा इसीलिए इसीलिए करते हैं क्योंकि कंपनी उन्हें अपने ब्रांड को प्रमोट Brand Promotion करने के लिए पैसे देती है, इसीलिए डिस्क्लेमर में कई यूट्यूबर पेड प्रमोशन Paid Promotion भी लिख देते हैं। ठीक इसी तरह फेसबुक Facebook, इंस्टाग्राम Instagram, ट्विटर Twitter, कोरा Quora, आदि सोशल मीडिया साइट्स Social Media Sites पर भी आपको कई ऐसे इनफ्लुएंसर मिल जाएंगे, जो ब्रांड्स को प्रमोट करते हैं। इन इनफ्लुएंसर्स में एक बात समान होती है- वो है फॉलोअर्स। इनफ्लुएंसर हम में से कोई भी हो सकता है अगर, हमारे सोशल मीडिया पर फॉलो करने वालों की संख्या शानदार हो।

Podcast

Continue Reading..

दुनिया भर में सोशल मीडिया Social Media की लोकप्रियता तेज़ी से बढ़ रही है और इसीलिए कंपनियां मार्केटिंग Marketing करने के लिए सोशल मीडिया की मदद ले रही हैं। इनफ्लुएंसर मार्केटिंग Influencer Marketing इन्हीं में से एक है। किसी इनफ्लुएंसर influencer का सेलिब्रिटी होना ज़रूरी नहीं है।  आपने अपने पसंदीदा यूट्यूबर के वीडियो में नोटिस किया होगा कि वे कभी-कभी अपने वीडियो में किसी स्पेसिफिक प्रोडक्ट को इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं, उसकी तारीफ करते हैं और आपको ये बताते हैं कि वे खुद उन प्रॉडक्ट्स का इस्तेमाल करते हैं। वे ऐसा इसीलिए इसीलिए करते हैं क्योंकि कंपनी उन्हें अपने ब्रांड को प्रमोट brand promotion करने के लिए पैसे देती है, इसीलिए डिस्क्लेमर में कई यूट्यूबर पेड प्रमोशन paid promotion भी लिख देते हैं। ठीक इसी तरह फेसबुक Facebook, इंस्टाग्राम Instagram, ट्विटर Twitter, कोरा Quora, आदि सोशल मीडिया साइट्स social media sites पर भी आपको कई ऐसे इनफ्लुएंसर मिल जाएंगे, जो ब्रांड्स को प्रमोट करते हैं। इन इनफ्लुएंसर्स में एक बात समान होती है- वो है फॉलोअर्स। इनफ्लुएंसर हम में से कोई भी हो सकता है अगर हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करने वालों की संख्या शानदार हो। कंपनियों को लगता है कि सोशल मीडिया में दबदबा रखने वाले ये इनफ्लुएंसर किसी एक ब्रांड या प्रोडक्ट के लिए उपभोक्ताओं consumers की पसंद पर प्रभाव डाल सकते हैं और यही कारण है कि आज टेक्नोलॉजी technology के इस युग में इसे ब्रांड प्रमोशन brand promotion के लिए एक हथियार की तरह इस्तेमाल किया जा रहा है। दरअसल, इनफ्लुएंसर ब्रांड के साथ उपभोक्ताओं को जोड़ने का काम करते हैं और इसीलिए सर्वे के अनुसार भारत में बीते तीन साल में इनफ्लुएंसर मार्केटिंग में तेजी से बढ़ोतरी हुई है। सर्वे में यह भी पाया गया है कि करीब 40 फीसदी बड़े ब्रांड्स ने ये इच्छा जताई है कि वे इनफ्लुएंसर मार्केटिंग में खर्च करना चाहेंगे क्योंकि इससे कंपनी को जबरदस्त फायदा होता है और ब्रांड प्रमोशन में काफी मदद मिलती है। 

आप सेलिब्रिटी एंडोर्समेंट Celebrity Endorsement और इनफ्लुएंसर मार्केटिंग में कन्फ्यूज मत हो जाइए क्योंकि इनफ्लुएंसर मार्केटिंग एक प्रसिद्ध सेलिब्रिटी को एक ब्रांड से जोड़ने से कहीं अधिक है। 

इनफ्लुएंसर मार्केटिंग ज़रूरी क्यों है? Importance of Influencer marketing 

टेक्नोलॉजिकल एडवांसमेट technological advancement और सोशल मीडिया social media के क्रेज से पहले टेलीविजन, रेडियो, न्यूजपेपर और मैगजीन ही मेन सहारा होते थे, जिनकी मदद से ब्रांड्स अपने प्रोडक्ट की मार्केटिंग करते थे लेकिन जब से इंटरनेट आया और लोग सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे इंस्टाग्राम, फेसबुक, ट्विटर और यू ट्यूब Instagram, Facebook, Twitter and YouTube को इस्तेमाल करने लगे तो कंपनी के पास भी यह चॉइस आ गई कि वह उन सभी जगहों पर एडवर्टाइज advertisement करें, जहां से वह अपनी बात ग्राहकों तक पहुंचा सकते हैं। ग्राहकों के पास भी पूरी स्वतंत्रता है कि वह जब चाहें जो चाहे देख सकते हैं। अब ऐसे में कंपनियों का ग्राहकों तक अपनी बात पहुंचा पाना मुश्किल था क्योंकि इंटरनेट पर अनलिमिटेड कंटेंट unlimited content है इसीलिए इनफ्लुएंसर मार्केटिंग की मदद लेना सबसे अच्छा डिसीजन था क्योंकि इनफ्लुएंसर की मदद से आप अपने लक्षित ग्राहकों target audience तक सीधे अपनी बात पहुंचा सकते हैं। 

इनफ्लुएंसर मार्केटिंग के फायदे Benefits of influencer marketing 

1. लक्षित ग्राहकों तक पहुंचना आसान होता है

अपने ब्रांड के लिए सही इनफ्लुएंसर के सहयोग से आपको सोशल मीडिया मार्केटिंग के माध्यम से लक्षित ग्राहकों तक पहुंचने में मदद मिल सकती है। आपको ऐसे इनफ्लुएंसर को चुनने की ज़रूरत है जो आपके नीश niche और इंडस्ट्री industry के लिए प्रासंगिक हों। आप उन इनफ्लुएंसर से संपर्क कर सकते हैं जो आपके जैसे ब्रांड का समर्थन करते हैं। इससे आपके लिए अपनी टारगेट ऑडियंस target audience तक पहुंचना आसान हो जाता है क्योंकि उन इनफ्लुएंसर के पास पहले से ही ऐसे दर्शक होते हैं। 

जैसे- अगर आपको किसी होटल या रेस्टोरेंट का प्रचार करना है तो आपको सोशल मीडिया पर किसी सफल फूड ब्लॉगर food blogger की तलाश करनी होगी। सही इनफ्लुएंसर चुनना मुश्किल है खासकर तब जब आप इस क्षेत्र में बिलकुल नए हो।

2. ग्राहक का आपके ब्रांड पर विश्वास बढ़ता है

किसी ब्रांड के लिए विश्वास को विकसित होने में समय लगता है और लोग सोशल मीडिया पर उन इनफ्लुएंसर पर भरोसा करते हैं जिन्हें वे फॉलो करते हैं। जब वही इनफ्लुएंसर आपके ब्रांड के बारे में सकारात्मक बात करते हैं तो ग्राहकों का आपके ब्रांड पर विश्वास बढ़ता है और वे उन प्रॉडक्ट्स को इस्तेमाल करना चाहते हैं। 

3. आप ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं

आप अपने प्रोडक्ट के बारे कई लोगों को एक ही बार में नहीं बता सकते हैं लेकिन इनफ्लुएंसर आपके लिए ये काम भी करते हैं। उनके पास लाखों और करोड़ों की संख्या में फॉलोअर्स होते हैं, और वे उन फॉलोअर्स तक अपनी बात पहुंचा सकते हैं लेकिन आप अकेले के दम पर ऐसा नहीं कर सकते हैं। इतना ही नहीं इनफ्लुएंस आपको कई नए ग्राहक भी देते हैं। 

4. सेलिब्रिटीज से ब्रांड एंडोर्समेंट करवाने की तुलना में ये बेहद सस्ता है

सेलिब्रिटीज से ब्रांड एंडोर्समेंट करवाना बेहद महंगा पड़ जाता है लेकिन अगर आप ऐसे इनफ्लुएंसर को चुन रहे हैं जिनके कुछ लाख फॉलोअर्स हैं तो वे कम पैसे में भी आपके ब्रांड का प्रमोशन कर देंगे लेकिन वहीं सेलिब्रिटीज आपसे ब्रांड एंडोर्समेंट के लिए ज्यादा फीस मांगते हैं। 

5. कम समय में अच्छा कंटेंट

एक इनफ्लुएंसर को पता होता है कि उसके फॉलोअर्स को क्या पसंद है। अगर आप एक ऐसे इनफ्लुएंसर के साथ काम कर रहे हैं, जिसे पहले से ही इनफ्लुएंसर मार्केटिंग की समझ है तो आपको अच्छे कंटेंट के बारे में चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। एक अच्छे इनफ्लुएंसर को पता होता है कि उसे क्या करना चाहिए ताकि उसके फॉलोअर्स बढ़ें। 

अब इसका मतलब ये नहीं है कि इनफ्लुएंसर मार्केटिंग के सिर्फ फायदे ही फायदे हैं। इनफ्लुएंसर मार्केटिंग सही है लेकिन तभी तक जब आप सही इनफ्लुएंसर के साथ काम कर रहे हैं। 

इनफ्लुएंसर मार्केटिंग के नुकसान क्या हैं-

  • गलत इनफ्लुएंसर से ब्रांड प्रमोशन करवाने से आपके ब्रांड का नाम खराब हो सकता है और फायदे से ज्यादा आपको कई नुकसान झेलने पड़ सकते हैं।
  • ब्रांड को प्रमोशन के लिए सही इनफ्लुएंसर चुनते वक्त बहुत समय और प्रयास लगता है लेकिन इनफ्लुएंसर की गलती की वजह से आपके ब्रांड की प्रतिष्ठा को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है। 

ये भी पढ़े: Brand value के लिए डिजिटल कंटेंट का बढ़ता उपयोग   

निष्कर्ष

इन्फ्लुएंसर मार्केटिंग एक प्रकार का सोशल मीडिया मार्केटिंग है जिसमें ब्रांड्स इन्फ्लुएंसर से एंडोर्समेंट endorsement करवाते हैं। सेलिब्रिटी एंडोर्समेंट और इनफ्लुएंसर मार्केटिंग में कन्फ्यूज मत हो जाइए क्योंकि इनफ्लुएंसर मार्केटिंग एक प्रसिद्ध सेलिब्रिटी को एक ब्रांड से जोड़ने से कहीं अधिक है। इनफ्लुएंसर हम में से कोई भी हो सकता है अगर हमें सोशल मीडिया पर फॉलो करने वालों की संख्या शानदार हो। लक्षित ग्राहकों तक पहुंचना, कम समय में अच्छा कंटेंट देना, provide good content ग्राहक का आपके ब्रांड पर विश्वास बढ़ना, सेलिब्रिटीज से ब्रांड एंडोर्समेंट करवाने की तुलना में इनफ्लुएंसर मार्केटिंग का बेहद सस्ता होना इसके फायदे हैं वहीं गलत इनफ्लुएंसर चुनने की गलती करने की वजह से आपके ब्रांड की प्रतिष्ठा को बहुत नुकसान पहुंचा सकता है। 

TWN In-Focus