सरसों के पीले फूल भर देंगे जीवन में रंग

1812
14 Oct 2021
7 min read

Post Highlight

सरसों का तेल हर घर में प्रयोग होता है और स्वास्थ्य के लिहाज से भी अन्य तेलों से बेहतर है। इसकी खूबियों के कारण इस तेल की माँग इतनी अधिक है कि इसका उपयोग पूरे विश्व में किया जाता है। इसकी माँग को देखते हुए किसान भी अब सरसों की खेती की तरफ अधिक ध्यान दे रहे हैं. जिससे इसकी उत्पादकता पहले से अधिक बढ़ रही है। कुल मिलाकर इस बिजनेस को शुरू करना मतलब मुनाफा ही मुनाफा कमाना है।

Podcast

Continue Reading..

हम उस देश में रहते हैं जहाँ किसानों को अन्नदाता कहा जाता है। हम किसानों पर ही आश्रित होते हैं। क्योंकि किसान की खेती की वजह से हम अपना जीवन जी पाते हैं। इसलिए हमारे देश में किसानों का दर्जा काफी ऊपर है। किसान तरह तरह की किस्में उगाते हैं। हर प्रकार की खेती करते हैं। इन्हीं में से एक है सरसों की खेती। सरसों के बारे में तो सभी जानते हैं। क्योंकि सरसों का तेल पूरे विश्व में प्रयोग किया जाता है। यह खाना बनाने में काम आता है। सरसों छोटे छोटे दाने के रूप में और अलग अलग रंग केहोते हैं जैसे पीले,काले,सफ़ेद आदि। इन्ही सरसों के दानों से तेल निकालने की प्रक्रिया को सरसों के तेल का बिजनेस कहते हैं और आप इस बिजनेस को कम लागत में शुरू कर सकते हो। 

स्वास्थ्य के लिए लाभदायक 

सरसों का तेल स्वास्थ्य के लिए भी काफी लाभदायक होता है। इसलिए सरसों के तेल की माँग सिर्फ भारत में ही नहीं विदेशों में भी है। क्योंकि ये तेल प्राकृतिक होता है। इसमें मिलावट बिल्कुल भी नहीं होती है और इसी कारण इसकी मांग भी अधिक है। इसलिए आप बिजनेस को बेहिचक शुरू कर सकते हो। ग्राहक की माँग को देखते हुए किसान भी सरसों की खेती में पहले से अधिक रूचि ले रहे हैं और इसलिए इसमें रोजगार की भी अधिक संभावनाएं है। 

कैसे शुरू करें बिजनेस 

सरसों के तेल का बिजनेस एक ऐसा बिजनेस है जो बहुत ही कम लागत में ज्यादा मुनाफा दे सकता है। क्योंकि ये हर घर में प्रयोग होता है और इसलिए इसका उत्पादन पहले से अधिक हो रहा है। जब सरसों पक जाती है उसके बाद उसके दाने निकालकर मशीन में डाले जाते हैं। इन्ही दानों को मशीन में डालकर तेल निकलता है। इसी को सरसों तेल मिल कहते हैं। इस बिजनेस के और भी फायदे हैं। तेल निकालने के बाद जो अवशेष अलग हो जाता है उसे खाद के रूप में बेच सकते हैं या फिर पशुओं को दे सकते हैं। 

बिजनेस की जानकारी 

किसी भी बिजनेस को शुरू करने से पहले उसकी जानकारी प्राप्त करना अत्यंत आवश्यक है। आपको सरसों के बीज की क्वालिटी अच्छी रखनी होगी। कंकड़ पत्थर नहीं होने चाहिए। बीज कहाँ से लेना है, किस मूल्य पर लेना है आदि। सबसे खास मिल की जानकारी रखना भी है कि कैसे मिल को मेंटेन करके रखना है। मशीन को चलाने की पूरी जानकारी,समय समय पर रिपेयर करना आदि। 

मशीन और जगह 

तेल निकालने की मशीन मार्केट में 1 लाख से 20 लाख तक मिल जायेगी। आप अपने बजट और सहूलियत के हिसाब से मशीन खरीद सकते हो। मिल लगाने के लिए आपको सही जगह का चुनाव करना पड़ेगा। तेल की मिल ऐसी जगह पर लगायें जहाँ पर लोगों का आवागमन अधिक हो या अगर घर में जगह है तो आप वहाँ पर भी मशीन लगा सकते हैं। बस ये ध्यान रखें कि जहाँ पर आप मिल खोल रहे हो वहाँ पर ट्रांसपोर्ट की पूरी सुविधा हो जिससे आने जाने में कोई दिक्क्त न हो। इससे आपको भी किसानों से सरसों लाने में आसानी रहेगी। 

सेल और पैकेजिंग 

जब मशीन से तेल निकल जाता है तो इसकी पैकेजिंग करनी पड़ती है। इसके लिए बोतल या पाउच में तेल को भरकर अच्छे से पैकेजिंग कर सेल कर सकते हो। 1 किलोग्राम तेल के लिए लगभग 3 किलोग्राम सरसों की आवश्यकता होती है। इसमें तेल निकालने के बाद बचे हुए भाग जिसको कि खली कहते हैं उसको भी बेचकर अच्छा मुनाफा कमा सकते हो। इसलिए इस बिजनेस में दुगुना फायदा हो जाता है। सेल को बढ़ाने के लिए कंपनी की ब्रांडिंग करें और दुकानदारों से संपर्क में रहें। आप किसी तेल कंपनी को भी तेल बेच सकते हो। इस तरह से इस बिजनेस को चलाओगे तो कभी भी नुकसान नहीं होगा। 

सरसों का तेल हर घर में प्रयोग होता है और स्वास्थ्य के लिहाज से भी अन्य तेलों से बेहतर है। इसकी खूबियों के कारण इस तेल की माँग इतनी अधिक है कि इसका उपयोग पूरे विश्व में किया जाता है। इसकी माँग को देखते हुए किसान भी अब सरसों की खेती की तरफ अधिक ध्यान दे रहे हैं. जिससे इसकी उत्पादकता पहले से अधिक बढ़ रही है। कुल मिलाकर इस बिजनेस को शुरू करना मतलब मुनाफा ही मुनाफा कमाना है।

TWN In-Focus