पैसा कमाने का आधुनिक तरीका

2869
22 Nov 2021
7 min read

Post Highlight

क्या आप जानते हैं कि हर्बल उत्पाद दिन-ब-दिन वैश्विक बाजार पर कब्जा कर रहे हैं? आयुर्वेदिक और हर्बल उत्पाद बहुत अधिक चलन में हैं क्योंकि उनका कोई साइड इफेक्ट नहीं है और उनका स्वास्थ्य पर अच्छा प्रभाव पड़ता है। आज-कल आयुर्वेद पैसा कमाने का आधुनिक तरीका बन गया है।

Podcast

Continue Reading..

आयुर्वेदिक और हर्बल बाज़ार आजकल एक बढ़ता हुआ बाज़ार है। हालाँकि, आयुर्वेद की शुरुआत भारत में हुई थी लेकिन आज दुनिया भर में बहुत सारे आयुर्वेदिक ब्रांड हैं। हर्बल उत्पाद उद्योग अंतरराष्ट्रीय स्तर globally पर फलफूल रहा है। उद्यमियों के लिए विनिर्माण manufacturing, वितरण distribution, खुदरा retail और ऑनलाइन खुदरा बिक्री online retailing प्रमुख लाभदायक क्षेत्र हैं। सौंदर्य प्रसाधनों से लेकर दवाओं तक आयुर्वेद हर बाज़ार पर कब्जा कर रहा है।

आयुर्वेद उद्योग ayurveda industry के लिए बहुत सारे व्यवसाय विकल्प हैं-

1. हर्बल प्रसाधन सामग्री herbal cosmetics

भारत में हर्बल कॉस्मेटिक उत्पाद herbal cosmetic products बहुत तेजी से उभर रहे हैं। न केवल भारत में बल्कि हर्बल सौंदर्य प्रसाधन की मांग राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दोनों बाजारों में हैं। हर्बल कॉस्मेटिक्स को दुनिया के सामने लाने में भारत सबसे आगे है। हर्बल कॉस्मेटिक उत्पादों की मांग ग्राहकों को अपनी जीवन शैली बदलने के लिए प्रेरित कर रहा है और उन्हें रासायनिक-आधारित सौंदर्य प्रसाधन उत्पादों के उपयोग से उनके शरीर को होने वाले नुकसान के बारे में जागरूक करने में मदद कर रहा है। आंकड़े कह रहे हैं कि भारतीय हर्बल कॉस्मेटिक उद्योग का 2022 तक 316 बिलियन और 2035 तक 35 बिलियन डॉलर तक पहुंचने का अनुमान है। हर्बल उत्पादों को सौंदर्य उपचार में अत्यधिक प्रभावी माना जाता है और इनका कोई साइड इफेक्ट side effect भी नहीं है।

2. आयुर्वेदिक चिकित्सा व्यवसाय ayurvedic medicine business

एक अन्य सक्रिय और लाभदायक आयुर्वेदिक व्यवसाय है- आयुर्वेद की दवाएं। आप बड़ी आयुर्वेदिक कंपनियों के लिए थोक और वितरण का व्यवसाय wholesale and distribution business शुरू कर सकते हैं। बहुत सारी आयुर्वेद कंपनियां हैं जिन्हें नियमित वितरण की आवश्यकता है। आप आयुर्वेदिक दवा खुदरा फार्मेसी ayurvedic medicine retail pharmacy भी शुरू कर सकते हैं। एलोपैथिक के ठीक विपरीत आयुर्वेदिक फार्मेसी को किसी ड्रग लाइसेंस की आवश्यकता नहीं है, केवल आपके पास ट्रेड लाइसेंस होना चाहिए। अगर आप आयुर्वेदिक दवाओं के साथ खाद्य पदार्थ भी बेचना चाहते हैं तो आपको FSSAI रजिस्ट्रेशन लेना होगा। सभी स्वास्थ्य देखभाल करने वाले व्यक्तियों के बीच हर्बल खाद्य उत्पादों की भी बड़ी मांग है। आप अपनी हर्बल कंपनी को फ्रैंचाइज़ी में भी बदल सकते हैं।

3. आयुर्वेदिक और हर्बल उत्पादों की ऑनलाइन बिक्री 

ई-कॉमर्स का कारोबार दिन-ब-दिन बढ़ रहा है और जड़ी-बूटियों और आयुर्वेदिक उत्पादों और दवाओं की ऑनलाइन खरीदारी भी बढ़ रही है। आप अपनी वेबसाइट या ऐप बना सकते हैं और आयुर्वेदिक उत्पादों की बिक्री शुरू कर सकते हैं। अपना ऑनलाइन बिक्री व्यवसाय शुरू करने के लिए आपको बस एक जीएसटी नंबर और पैन नंबर की आवश्यकता होगी। आयुर्वेदिक और हर्बल उत्पाद वास्तव में बहुत चलन में हैं।

4. आयुर्वेदिक कंसल्टेंसी फर्म या क्लिनिक 

आयुर्वेद में अपने अनुभव और ज्ञान के आधार पर आप अपना परामर्श व्यवसाय शुरू कर सकते हैं। आप ऐसी क्लिनिक शुरू कर सकते हैं जहां लोगों को आयुर्वेद से जुड़ी हर जानकारी मिले। बहुत से लोग हर्बल उत्पादों को खरीदने से पहले उनके बारे में सलाह लेना चाहते हैं। ऐसे लोगों को जानकारी देकर आप अच्छी कमाई कर सकते हैं।

5. जड़ी-बूटियों की बागवानी और खेती

आयुर्वेदिक दवाओं और अन्य उत्पादों के लिए विभिन्न प्रकार की जड़ी-बूटियों और अन्य सामग्रियों की आवश्यकता होती है। अगर आपको खेती का ज्ञान है तो जड़ी-बूटियों की खेती और रोपण भी एक अच्छा व्यवसाय विकल्प है। आप पारंपरिक खेती की तुलना में जड़ी-बूटियों की बागवानी और खेती करके काफी बेहतर तरीके से कमा सकते हैं। आप अपनी जड़ी-बूटियों को बेचने के लिए किसी आयुर्वेदिक निर्माता से संपर्क कर सकते हैं।

6. घर का बना उत्पाद homemade products

यदि आप हर्बल उत्पाद बनाना जानते हैं तो आप होम मेड प्रोडक्ट्स का हर्बल व्यवसाय भी शुरू कर सकते हैं या आप अभी से सीखना भी शुरू कर सकते हैं। आयुर्वेदिक और हर्बल उत्पादों की बाजार में बड़ी मांग है और अगर घर के बने उत्पादों की बात करें तो लोग उन्हें खरीदने के लिए ज्यादा उत्सुक रहते हैं।

आइए अब कुछ आयुर्वेदिक और हर्बल उत्पादों की सूची देखें-

  • एलोवेरा जेल और जूस
  • एसेंशियल ऑइल्स
  • च्यवनप्राश
  • लौंग का पाउडर
  • हर्बल टी
  • हर्बल धूप
  • हर्बल कफ सिरप
  • हर्बल फेशियल क्रीम
  • हर्बल हेयर प्रोडक्ट्स 
  • हर्बल मेकअप
  • हर्बल साबुन और शैम्पू
  • हर्बल दवाएं आदि।

अब यह जानने का समय है कि आयुर्वेदिक व्यवसाय कैसे शुरू करें-

1.योजना और बाजार अनुसंधान planning and market research

व्यवसाय शुरू करने से पहले आपको शोध करने और एक व्यवसाय योजना बनाने की आवश्यकता है। उत्पाद, मूल्य, प्रचार और वितरण के लिए योजना बनाएं। अपने बाजार, लक्षित दर्शकों, प्रतिस्पर्धियों पर शोध करें और उनकी मांगों को ध्यान में रखते हुए कुछ विशिष्टता के साथ बिज़नेस शुरू करने का प्रयास करें। बिज़नेस शुरू करने से पहले बाजार को जानना बहुत जरूरी है।

2. अपनी जड़ी-बूटियों को जानें know your herbs

हर्बल व्यवसाय शुरू करने से पहले आपको हर जड़ी-बूटी और उसके उपयोग के बारे में पता होना चाहिए। आपको यह तय करना होगा कि आप कौन से उत्पाद का व्यवसाय करेंगे और इसके लिए आपको किन जड़ी-बूटियों की आवश्यकता होगी। सभी आयुर्वेदिक कंपनियां कई जड़ी-बूटियों का उपयोग करती हैं, जैसे-कैमोमाइल, इचिनेशिया, लहसुन, अदरक, गिंग्को बिलोबा, जिनसेंग, एलोवेरा, आदि।

3. ग्राहक सर्वेक्षण customer surveys

हर्बल उत्पाद को लोग इसीलिए इस्तेमाल करना चाहते हैं ताकि उनका स्वास्थ्य सही रहे और उन्हें उत्पाद को इस्तेमाल करने के बाद कोई साइड इफेक्ट ना हो। एक ग्राहक सर्वेक्षण आपको बेहतर संबंध बनाने में मदद करेगा और आपको ग्राहक की सभी समस्याओं और जरूरतों से अवगत कराएगा। आप ग्राहकों के साथ सीधा संवाद भी शुरू कर सकते हैं और उन्हें हर्बल उत्पादों के लाभ के बारे में अधिक से अधिक अवगत करा सकते हैं।

4. सही दाम और उचित पैकेजिंग 

मूल रूप से, हर्बल उत्पाद थोड़े अधिक मूल्य के होते हैं। आपको यह ध्यान रखना चाहिए कि आप जो उत्पाद बेच रहे हैं, उनकी कीमत अधिक न हो। उचित दाम आपको बाजार को अधिक प्रभावी ढंग से समझने में मदद करेगा और ग्राहक आपके उत्पाद को इस्तेमाल करना चाहेंगे। इसके अलावा, पैकेजिंग सिस्टम को ध्यान में रखें। पैकेजिंग को देखें और सुनिश्चित करें कि सही रंग का इस्तेमाल हो, क्योंकि यह एक हर्बल उत्पाद है, इसकी पैकेजिंग में हरे और भूरे रंग का इस्तेमाल करना अच्छा रहेगा।

5. ऑफ़र, कूपन और छूट offers, coupons and discounts

जैसा कि हमने आपको अभी बताया कि हर्बल उत्पादों की कीमत थोड़ी अधिक होती है इसीलिए आकर्षक ऑफ़र और छूट, ग्राहकों को आकर्षित करने का एक शानदार तरीका है। आप नए-नए विचार के साथ आ सकते हैं। एक खरीदो, एक मुफ्त पाओ का बाजार में काफी चलन है और इस तरह के ऑफर्स ग्राहकों को आकर्षित भी करते हैं।

6. सोशल मीडिया social media 

अब आती है प्रमोशन की बात। सोशल मीडिया की मदद से विज्ञापन करना समझदारी है क्योंकि विज्ञापन की लागत कम होती है। आप आयुर्वेदिक और हर्बल उत्पादों के लिए अन्य मीडिया का भी उपयोग कर सकते हैं। अपनी खुद की वेबसाइट के साथ आएं और एक आकर्षक उत्पाद डेमो दें।

TWN In-Focus