क्या Network Marketing है बिज़नेस का बेहतर विकल्प?

675
23 Apr 2022
7 min read

Post Highlight

जब भी पैसे कमाने की बात आती है तो Network Marketing या Multi Level marketing का नाम हमारे ज़ेहन में जरूर आता है। वह इसलिए क्योंकि आज के दौर में इसके माध्यम से बहुत सारे लोग पैसे कमा रहे हैं, और बहुत से लोग मुनाफा कमा भी चुके हैं। आज, भारत में बहुत सारी ऐसी कम्पनियाँ हैं जो Network Marketing के माध्यम से अपने उत्पाद या सेवा को ग्राहकों तक पहुंचा रही हैं और इस कार्य को करने में बहुत सी मल्टी लेवल मार्केटिंग कंपनियां (Multi level Marketing Companies) भी manufacturer की मदद कर रही हैं। हालांकि, इसके अपने नुकसान भी हैं। आज इस आर्टिकल में हम इसी के बारे में चर्चा करेंगे और नेटवर्क मार्केटिंग विभिन्न पहलुओं के बारे में जानेंगे। तो पढ़ते रहिए -TWN

Podcast

Continue Reading..

नेटवर्क मार्कर्टिंग (Network marketing) या मल्टी लेवल मार्केटिंग (Multi level Marketing), अमेरिका एवं अन्य पश्चिमी एवं यूरोपीय देशों में अपनी चरम सीमा पर पहुँच गया है यानि बहुत से लोग इस काम को कर रहे हैं। लेकिन भारत में अभी भी नेटवर्क मार्केटिंग उतना सफल नहीं है, वह इसलिए क्योंकि भारत के लोग इस प्रकार की मार्केटिंग या चेन मार्केटिंग को अभी भी थोड़ी नकारात्मक दृष्टी से देखते हैं। हालांकि, इस क्षेत्र (Network marketing) में बहुत संभावनाएं हैं। 

भारत में जब एक स्थायी कमाई या फुल टाइम जॉब की बात आती है तो Network marketing को फुल टाइम कमाई का स्रोत बनाने से लोग अभी भी झिझकते हैं, या यूं कहे कि वह रिस्क लेना नहीं चाहते। इसका एक कारण ये भी हो सकता है कि लोगों की नजर में नेटवर्क मार्केटिंग या Multi Level marketing किसी सेल्समेन के काम जैसा ही है। आइए जानते हैं कि वास्तव में नेटवर्क मार्केटिंग क्या है। 

नेटवर्क मार्केटिंग क्या है (What Is network marketing)?

Network Marketing को मल्टी लेवल मार्केटिंग के नाम से भी जाना जाता है, यह एक ऐसा व्यवसायिक मॉडल है जिसमें कंपनी के उत्पादों या सेवा को बेचने के लिए लोगों का नेटवर्क काम करता है जो पिरामिड ढांचे के रूप में होता है यानि लोग जुड़ते जाते हैं और कारवां बढ़ता जाता है। इस नेटवर्क में शामिल प्रतिभागियों को आम तौर पर कंपनी द्वारा कमीशन के रूप में उनकी सैलरी दी जाती है। 

इसमें आपको एक कार्य सौंपा जाता है, यह कार्य उनके या उनके द्वारा जोड़े गए किसी अन्य व्यक्ति द्वारा की गई उत्पाद या सेवा की बिक्री हो सकती है। आसान भाषा में समझें तो, यदि आप नेटवर्क मार्केटिंग के क्षेत्र में काम कर रहे हैं तो जब भी आपके या आपके द्वारा जोड़े गए किसी व्यक्ति, या उस व्यक्ति द्वारा जोड़े गए किसी व्यक्ति द्वारा उत्पाद या सेवा की बिक्री की जाती है तो आपको इसका कमीशन प्राप्त होगा। 

यदि आसान शब्दों में Network Marketing को समझें तो यह एक ऐसा नेटवर्क ढांचा है जिसमें शामिल लोगों को कंपनी द्वारा कोई फिक्स सैलरी तो नहीं दी जाती है, लेकिन जब उनके या उनके नीचे नेटवर्क में शामिल किसी व्यक्ति द्वारा बिक्री की जाती है तब उन्हें कमीशन दिया जाता है। इस प्रणाली में ग्राहक स्वयं इस नेटवर्क का प्रतिभागी हो सकता है।

वर्तमान में, दुनिया भर के करोड़ों लोग Networking Marketing की इंडस्ट्री में काम कर रहे हैं। लेकिन अभी भी बहुत सारे लोग नहीं जानते कि यह सिस्टम काम कैसे करता है। आइये आगे इसी के बारे में बात करते हैं। 

जैसा की पहले बताया, कि नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसी मार्केटिंग रणनीति है जिसमें कंपनी द्वारा अपना उत्पाद खरीदने वाले को इसका हिस्सा बना दिया जाता है। और उसे इस बात के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित भी किया जाता है ताकि वह कंपनी के लिए और ग्राहक लेकर आये जिससे उसे कमीशन मिल सके। अगर बात करें Multi Level Marketing की तो, यह कंपनी एवं उसके ग्राहकों के बीच की एक ऐसी कड़ी है जिसमें कंपनी द्वारा कमाया हुआ लाभ अपने ग्राहकों के बीच कमीशन के तौर पर वितरित किया जाता है, जिससे ग्राहकों को प्रोत्साहन मिले और वह ज्यादा से ज्यादा कंपनी के उत्पादों की खरीदारी करें। 

Network marketing के फायदे 

नेटवर्क मार्केटिंग सम्पूर्ण विश्व में लोगों की कमाई का जरिया बन गया है। लेकिन भारत में, आम तौर पर लोग इसे पार्ट टाइम काम के तौर पर करना पसंद करते हैं। नेटवर्क मार्केटिंग के कई फायदे हैं जैसे-

  •  Network Marketing के क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए आपको बहुत ज्यादा निवेश करने की आवश्यकता नहीं होती है। 

  • Network Marketing का क्षेत्र हर किसी व्यक्ति के लिए खुला है। यानि कोई भी इंसान इसे ज्वाइन कर सकता है चाहे वह किसी भी लिंग, उम्र या जाति का हो ।

  •  इस क्षेत्र में प्रवेश करने वाले नए व्यक्तियों को इसके बारे में समझाने के लिए पहले से ही इस क्षेत्र के अनुभवी लोग रहते हैं जो आपको इस क्षेत्र में सफल होने के टिप्स दे सकते हैं। 

  • नेटवर्क मार्केटिंग को कोई भी व्यक्ति पार्ट टाइम जॉब के तौर पर शुरू कर सकता है, इसलिए कोई भी नौकरीपेशा या विद्यार्थी भी इसे नेटवर्क मार्केटिंग कर सकता है। 

  • इस क्षेत्र में कंपनियों द्वारा लोगों को पहले से ही स्थापित एक सिस्टम प्रदान किया जाता है, इसलिए इसमें आपको अलग से कोई सिस्टम बनाने की आवश्यकता नहीं होती है। 

  • बहुत सारी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियाँ इस व्यवसाय में सफल होने के लिए लोगों को मुफ्त में शिक्षा एवं प्रशिक्षण भी प्रदान करती हैं। 

  • इस क्षेत्र में प्रवेश करने के लिए आपको किसी प्रकार की औपचारिक शिक्षा या डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है । 

  • यदि आप अपने बोलचाल से अन्य व्यक्तियों को अपनी ओर आकर्षित कर सकते हैं तो नेटवर्क मार्केटिंग आपकी पैसिव इनकम (Passive income) का एक बेहतरीन स्रोत बन सकता है।

Network marketing के नुकसान :

  • इस क्षेत्र में सभी लोग सफलता के आसमान तक नहीं पहुंचते, अतः हम कह सकते हैं कि इसमें सफलता की दर कम है। यही कारण है कि आप किसी भी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी में देखेंगे तो टॉप लेवल पर कुछ ही लोग होते हैं। कुछ आंकड़ों के अनुसार लगभग 50% लोग नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करने के बाद सिर्फ 1 साल में ही यह क्षेत्र छोड़ देते हैं, और लगभग 90% लोग पांच साल में इस व्यवसाय को छोड़ देते हैं या अपनी कंपनी बदल लेते हैं।  

  • नेटवर्क मार्केटिंग में शुरुआत में मेहनत अधिक है और पैसे भी कम मिलते हैं। हालांकि, जब भी हम कोई बिज़नेस या कंपनी शुरु करते हैं तो हम मेहनत करने के लिए तैयार होते हैं लेकिन मेहनत करने के बाद भी इनकम हमारे काम के अनुसार न हो तो हम निराश हो जाते हैं। 

  • लोगों के मन में नेटवर्क मार्केटिंग के प्रति जो नकारात्मकता पैदा की है वो मनी सर्कुलेशन और फ्रॉड कम्पनियों ने किया है। मनी सर्कुलेशन वाली कंपनियां जोकि नेटवर्क मार्केटिंग के नाम पर लोगों से पैसे लेती है और उसे उन्हीं लोगों के बीच घुमाती रहती है, इसमें लोगों को कुछ मुनाफा नहीं होता। हालांकि भारत में ये गैरकानूनी है इसलिए इस तरह की कंपनियां ज्यादा नहीं हैं, लेकिन फिर भी समय-समय यह खबर आती रहती है कि नेटवर्क मार्केटिंग के नाम पर कंपनियों ने लोगों को बेवक़ूफ़ बनाया। 

  • नेटवर्क मार्केटिंग करने वाली कंपनियों के प्रोडक्ट और सर्विस बहुत महंगी होती हैं। इसलिए इसमें सामन बेच पाने के चान्सेस बहुत कम होते हैं। 

  • इस क्षेत्र में आपकी आय निश्चित नही होती। इसमें आपको आपकी performance के आधार पर ही कमीशन मिक्ता है। यही कारण है कि जो लोग नौकरी वाले mindset से इस बिज़नेस में आते हैं और निश्चित इनकम ना मिलने पर निराश हो जाते हैं। 

  • इससे आपके रिश्तों पर भी प्रभाव पड़ता है। ऐसा इसलिए होता है कि आमतौर पर ज्यादातर लोग नेटवर्क मार्केटिंग के नाम से ही दूर भागते हैं। यदि क्षेत्र में काम करते हुए आप किसी रिश्तेदार या दोस्त के घर पहुँच जाएँ तो वह आपसे बचने की कोशिश करते हैं।  

  • नेटवर्क मार्केटिंग का एक नुकसान यह भी है कि यदि आपके द्वारा बनाई गयी चेन में से कोई कड़ी टूटती है  यानि कोई व्यक्ति उतनी मेहनत नहीं कर पाता है और ये काम छोड़ देता है तो इसका खामियाजा आपको भी भुगतना पड़ेगा क्योंकि इससे आपके मुनाफे में भी गिरावट आएगी। 

  • नेटवर्क मार्केटिंग करने के लिए सही ट्रेनिंग और Skills की बहुत जरूरत होती है। वैसे तो यह बिजनेस यानि नेटवर्क मार्केटिंग सुनने में आसान लगता है लेकिन बिना ट्रेनिंग और कम्युनिकेशन स्किल्स के इस क्षेत्र में काम करना आसान नहीं है। लेकिन ज्यादातर नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों में ट्रेनिंग कम और मोटिवेशन ज्यादा दी जाती है, और यही कारण है कि प्रैक्टिकल नॉलेज नहीं होने की वजह से ज्यादातर लोग सफल नहीं हो पाते।

कैसे ज्वाइन करें नेटवर्क मार्केटिंग?

वैसे तो भारत में हजारों नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां हैं और आपने अक्सर देखा भी होगा की आपके आस, पड़ोस या नाते रिश्तेदारों में ऐसे कई लोग होंगे जो किसी न किसी मल्टी लेवल मार्केटिंग कंपनी से जुड़े होंगे। हो सकता है वह आपसे इस नेटवर्क से जुड़ने के लिए पहले ही कह चुके हों। अगर आपके जानने वालों में कोई ऐसा नहीं है तो यदि आप खुद ही रिसर्च एवं अध्यन करके इस बात का निर्णय ले सकते हैं कि कौन सी मल्टी लेवल मार्केटिंग कंपनी आपके लिए उपयुक्त रहेगी। क्योंकि हर कंपनी के अपने अलग-अलग उत्पाद और स्कीम होती है और कुछ कंपनियां तो ग्राहकों के साथ धोखा भी कर देती हैं। इसलिए इस क्षेत्र में किसी भी कंपनी से जुड़ने से पहले आपको काफी रिसर्च एवं अध्यन की आवश्यकता होती है। 

भारत की टॉप 10 Network Marketing Companies

  • एमवे इंडिया (Amway India)

  • फॉरएवर लिविंग (Forever Living

  • एमआई लाइफस्टाइल मार्केटिंग ग्लोबल प्राइवेट लिमिटेड (Mi Lifestyle Marketing Global Private Limited)

  • वेस्टीज (Vestige)

  • फ्यूचर मेकर (Future maker)

  • हर्बालाइफ (Herbalife)

  • एवन (Avon)

  • आरसीएम (RCM)

  • ओरिफ्लेम (Oriflame)

  • मोदीकेयर (Modicare)

निष्कर्ष:

यह ब्लॉग नेटवर्क मार्केटिंग के दोनों पहलुओं यानि फायदा और नुकसान दोनों  के बारे में था। अब यह आप पर निर्भर करता है कि आपको मल्टी लेवल मार्केटिंग करनी है या नहीं। हालांकि मेहनत तो हर क्षेत्र में करनी ही पड़ती है, और मेहनत ही  सफलता की कुंजी है। 

Think with Niche पर आपके लिए और रोचक विषयों पर लेख उपलब्ध हैं एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक पर क्लिक करे-

भारत में Dropshipping Business शुरू करने के 5 टिप्स

TWN In-Focus