कंटेंट मार्केटिंग का कैसे बदला रूप ?

4203
19 Feb 2024
6 min read

Post Highlight

कंटेंट को प्रभावी बनाने के लिए कंटेंट मार्केटिंग का सहारा लिया जाने लगा, यह तरीका असरकारी भी होता है। इसके सहारे व्यक्ति अपने कंटेंट को पाठकों के लिए रूचिपूर्ण बना लेता है।

महामारी के बाद से कंटेंट मार्केटिंग का स्कोप और विस्तारित हुआ है, अब हर एक कंटेंट को प्रभावी होने के लिए अधिक महत्ता दी जाती है। क्योंकि वर्ष 2020 के बाद से पाठकों की संख्या में विस्तार हुआ है।

कंटेंट मार्केटिंग ने विपणन की दुनिया में बहुत सारे बदलाव लाए हैं। पहले के समय में जब साधारण विज्ञापन और प्रमोशन कार्यक्रम का उपयोग होता था, जो कि एक अस्थायी प्रभाव छोड़ता था। लेकिन आज कंटेंट मार्केटिंग ने अपनी अहमियत साबित कर दी है। इसका मकसद प्रभावी कंटेंट बनाना है जो पाठकों को आकर्षित करता है और उन्हें सम्पूर्ण अनुभव प्रदान करता है।

वर्तमान में कंटेंट मार्केटिंग का स्कोप और महत्त्व Scope and importance of content marketing बहुत बढ़ गए हैं। इंटरनेट की व्यापकता और डिजिटल मीडिया के विकास ने लोगों को एक स्वतंत्रता की अनुभव कराई है, जहां उन्हें अपनी पसंद के कंटेंट तक पहुंचने की स्वतंत्रता है।

यहां कंटेंट मार्केटिंग अपनी महत्त्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है, क्योंकि लोग अब जानकारी प्राप्त करने, उत्पादों की खोज करने और ब्रांडों के साथ संवाद करने के लिए इंटरनेट का उपयोग कर रहे हैं।

आधुनिक कंटेंट मार्केटिंग modern content marketing के साथ, कंपनियाँ और व्यापारी अपने उद्यम को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न माध्यमों का उपयोग कर रहे हैं। एक वेबसाइट के माध्यम से उनका परिचय और उत्पाद या सेवाओं का प्रदर्शन हो सकता है।

उनकी वेबसाइट पर ब्लॉग पोस्ट्स, वीडियो, पॉडकास्ट्स और ईबुक्स भी हो सकते हैं, जो उपयोगकर्ताओं को उद्यम की गहन जानकारी और विशेषताओं के बारे में विस्तृत विवरण प्रदान करते हैं ।

यह लेख विस्तृत रूप से बताता है कि कैसे कंटेंट मार्केटिंग ने अपने रूप में बदलाव लाया है और क्या कारण हैं जो इसे महत्वपूर्ण बना देते हैं। यह बताता है कि कंटेंट को प्रभावी बनाने के लिए कंटेंट मार्केटिंग का कैसे सहारा लिया जाता है और कैसे यह राचनात्मक बनाता है।

Podcast

Continue Reading..

किसी विषय को सबके सामने सही ढंग से प्रदर्शित करना महत्वपूर्ण तथा स्थिर मन का कार्य है। यह कला है जिसके साथ सब पूर्ण न्याय नहीं कर पाते हैं। वैसे तो अच्छे विषयों को पढ़ने, देखने के शौकीन तो प्रत्येक मनुष्य होते हैं, परन्तु वह कुछ चुनिंदा विषयों पर ही ख़ासकर पढ़ना पसंद करते हैं, तथा वह भी यदि उनकी पसंद के हिसाब से लिखा हो।

ऐसे में विषय Content को सुचारू रूप से लोगों के सामने रख पाने का कार्य कठिन और चुनौतीपूर्ण मुद्दा बन जाता है। इन्हीं कारकों की वजह से किसी एक विषय पर लिखने के लिए हमें कई कारणों पर ध्यान पर देना होता है। समय बदलने के साथ-साथ लोगों की पसंद में भी बदलाव आता है।

इसलिए कंटेंट को उनके अनुरूप बदलना तथा हमेशा डिमांड में बनाए रखना आवश्यक होता है। इसलिए अब कंटेंट को प्रभावी बनाने के लिए कंटेंट मार्केटिंग का सहारा लिया जाने लगा, यह तरीका असरकारी भी होता है। इसके सहारे व्यक्ति अपने कंटेंट को पाठकों के लिए रूचिपूर्ण बना लेता है।

महामारी के बाद से कंटेंट मार्केटिंग का स्कोप और विस्तारित हुआ है, अब हर एक कंटेंट को प्रभावी होने के लिए अधिक महत्ता दी जाती है। क्योंकि वर्ष 2020 के बाद से पाठकों की संख्या में विस्तार हुआ है।

कंटेंट मार्केटिंग का कैसे बदला रूप ? How has the face of content marketing changed?

कंटेंट मार्केटिंग क्या है | What Is Content Marketing 

कंटेंट मार्केटिंग एक ऐसी विपणन रणनीति marketing strategy है जिसमें मूल रूप से उपयोगकर्ताओं को रुचिकर और महत्वपूर्ण सामग्री प्रदान करके व्यापार की बढ़ती हुई आवश्यकताओं को पूरा करने का प्रयास किया जाता है। इसका मुख्य लक्ष्य उपयोगकर्ताओं को संबंधित और उपयोगी सामग्री प्रदान करके उनकी ध्यान आकर्षित करना, उन्हें अधिकांश जानकारी देना, उनकी आपूर्ति करना और व्यापारिक उद्योग में विश्वास बनाना है।

कंटेंट मार्केटिंग उन लोगों के लिए महत्वपूर्ण है जो अपने उत्पादों या सेवाओं की बिक्री sale of products or services बढ़ाने, ब्रांड वैल्यू को बढ़ाने, उपयोगकर्ता संपर्क को बढ़ाने, विशेषज्ञता बढ़ाने, ग्राहक सम्पत्ति बनाने, वेबसाइट या ब्लॉग ट्रैफ़िक बढ़ाने और ब्रांड आवाज को मजबूत करने के इरादे से काम कर रहे होते हैं।

कंटेंट मार्केटिंग content marketing एक Marketing है जो किसी विषय को इस प्रकार से तैयार करने में मदद करता है जो लक्षित दर्शक को आकर्षित करता है। हम कह सकते हैं कि एक विषय में आवश्यक तथ्यों को शामिल करना, कम समय में अपनी बात को स्पष्ट कह देना तथा दर्शक की रूचि को अंत तक बनाए रखने का कार्य कंटेंट मार्केटिंग के सहारे किया जाता है। इससे अधिक दर्शकों की लंबे समय तक उसके विषय पर उपस्थिति रहती है। आज 60% तक B2C व्यवसाय कंटेंट मार्केटिंग स्ट्रेटेजी का सहारा ले रहे हैं, जो उन्हें व्यवसाय में अधिक सफ़लता दिलाते हैं।

महामारी के बाद कंटेंट मार्केटिंग स्ट्रेटेजी में बहुत बदलाव हुआ है। इसका कारण यह रहा कि 2020 के बाद से लोगों की जीवन शैली के साथ मानसिक स्थिति में भी बदलाव हुआ है।

कंटेंट मार्केटिंग में कंटेंट के वीडियो स्ट्रीमिंग को शामिल किया गया, इस तरीके ने लोगों का ध्यान इसकी ओर खींचा। B2B तथा B2C विपणक marketers के बीच वीडियो मार्केटिंग महामारी के समय में भी प्रभावी रहा है। सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को भी कंटेंट मार्केटिंग के तहत व्यवसाय में शामिल किया गया, जो असरकारी भी रहा।

कंटेंट को अब विभिन्न चैनलों पर विभिन्न तरीकों से, जैसी उस चैनल की डिमांड हो प्रसारित किया जाता है, ताकि उसकी अधिक से अधिक पहुंच हो सके तथा दर्शकों का ध्यान अपनी ओर खींच सकें। कंटेंट मार्केटिंग का यह तरीका भी प्रभावी हुआ और कंटेंट की डिमांड मार्केट में और अधिक बढ़ी।

कंटेंट में समय के साथ रचनात्मकता Creativity का भी बदलाव किया गया, किसी भी विषय को इस प्रकार व्यवसाय में इस प्रकार पेश किया जाने लगा, जिसमें दर्शकों का रूझान अत्यधिक आए। इस प्रक्रिया ने भी विपणन को सफ़ल बनाया। 2020 के बाद कंटेंट मार्केटिंग का रूप बदला है, जो सकारात्मक बदलाव लाने की ओर अग्रसर है।

कंटेंट मार्केटिंग के माध्यम से उपयोगकर्ताओं को निम्नलिखित प्रकार की सामग्री प्रदान की जा सकती है:

कंटेंट मार्केटिंग उदाहरण | Content Marketing Examples

Content Marketing में शैक्षिक लेख, ई-पुस्तकें, वीडियो, मनोरंजन और वेबिनार जैसी चीजें शामिल हैं जो लोगों के विशिष्ट प्रश्नों का उत्तर देती हैं और उन्हें कुछ ऐसा प्रदान करती हैं जो उन्हें कहीं और नहीं मिल सकता है। यह आपके उत्पाद को बदलने का सबसे अच्छा तरीका है, चाहे वह कितना भी सामान्य क्यों न हो, किसी ऐसी चीज़ में बदलना जो हर किसी की तरह नहीं है।

  • लेख Article: एक महत्वपूर्ण कंटेंट मार्केटिंग टूल है लेख। लेख उपयोगकर्ताओं को ज्ञानवर्धक और मनोरंजक सामग्री प्रदान करते हैं। ये लेख विभिन्न विषयों पर हो सकते हैं, जैसे नए रवैये, उत्पाद या सेवाओं के बारे में जानकारी, तुच्छ तथ्य, सलाह, टिप्स, निर्देशिका, लेखक की व्याख्या और अधिक। ये लेख वेबसाइटों, ब्लॉगों, ईमेल न्यूज़लेटर्स, ईबुक्स आदि के रूप में शेयर किए जा सकते हैं।

  • ब्लॉग Blog: ब्लॉग एक प्रकार का ऑनलाइन लेख है जिसमें अपडेट या पोस्ट नियमित रूप से की जाती है। ये अपडेट उपयोगकर्ताओं को नवीनतम जानकारी, रचनात्मक सोच, अनुभव, व्यापार विचार और अद्यतन संबंधी सामग्री प्रदान करते हैं।ब्लॉग उपयोगकर्ताओं के बीच संवाद का माध्यम भी हो सकता है, क्योंकि वे अपनी टिप्पणियां और प्रतिक्रियाएं पोस्ट कर सकते हैं।

  • इसके अलावा, ब्लॉग पर सोशल मीडिया शेयर बटन उपलब्ध होते हैं जिनका उपयोग उपयोगकर्ताओं को ब्लॉग पोस्ट को अपने संबंधित सामाजिक मीडिया प्लेटफॉर्मों पर साझा करने में किया जा सकता है। इस प्रकार, उपयोगकर्ता उन्नति कर सकते हैं, अधिक व्यापक संदेश प्राप्त कर सकते हैं और अपनी राय साझा कर सकते हैं।

  • प्रेस विज्ञप्ति Press release: कंपनियों या व्यापारों के लिए प्रेस विज्ञप्ति एक महत्वपूर्ण कंटेंट मार्केटिंग उपाय है। ये विज्ञप्ति नवीनतम खबरों, उत्पादों या सेवाओं की घोषणाओं, कंपनी के विचार और मीडिया कवरेज के लिए उपयोग होती है। उपयोगकर्ताओं को विशेषज्ञता की ओर आकर्षित करने के साथ-साथ उन्हें विचारों, घटनाओं और प्रयासों के बारे में जानकारी प्रदान करती है।

प्रेस विज्ञप्ति समाचार मीडिया, वेबसाइटों, ब्लॉगों, पत्रिकाओं और अन्य मीडिया प्लेटफ़ॉर्मों के माध्यम से प्रसारित की जाती है। एक अच्छी प्रेस विज्ञप्ति कंपनी को सुर्खियों में लाने, उपयोगकर्ताओं को अपडेट रखने, नए ग्राहकों को प्राप्त करने और विचारशीलता को दिखाने में मदद करती है।

  • वीडियो कंटेंट video content: वीडियो कंटेंट एक अत्यंत प्रभावी कंटेंट मार्केटिंग माध्यम है जो उपयोगकर्ताओं को संवाद करने और विचारों, संगठन के पीछे की कहानी, उत्पाद या सेवाओं की डेमोंस्ट्रेशन और अधिक के साथ साथ मनोरंजन प्रदान करने का एक अद्वितीय तरीका है। ये वीडियो यूट्यूब, सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म, वेबसाइटों और वीडियो संचार सेवाओं के माध्यम से शेयर किए जा सकते हैं।

  •  इन्फोग्राफिक्स Infographics: उदाहरण: एक वित्तीय संस्थान एक इन्फोग्राफिक बना सकता है जिसमें बताया गया है कि "अपनी सेवानिवृत्ति के लिए कैसे बचत करें"। उद्देश्य: दर्शकों को वित्तीय मुद्दों के बारे में शिक्षित करना और उन्हें वित्तीय संस्थान की सेवाओं पर विचार करने के लिए प्रोत्साहित करना।

  • सोशल मीडिया पोस्ट Social media post: उदाहरण: एक कंपनी जो जूते बेचती है, वह सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर सकती है जिसमें बताया गया है कि "नए जूते कैसे चुनें"। उद्देश्य: दर्शकों को जूतों के बारे में शिक्षित करना और उन्हें कंपनी के उत्पादों को खरीदने के लिए प्रोत्साहित करना।

  • प्रस्तुतियां  और वेबिनार Presentations and Webinar: प्रस्तुतियां और वेबिनार लाइव या पूर्व निर्धारित समय पर संचालित की जाने वाली इवेंट्स हैं जो उपयोगकर्ताओं को विशेषज्ञता, अनुभव और नवीनतम जानकारी प्रदान करते हैं।

प्रस्तुतियां और वेबिनार उपयोगकर्ताओं को विशेषज्ञता, अनुभव और नवीनतम जानकारी प्रदान करते हैं। ये इंटरैक्टिव इवेंट्स होते हैं जहां वक्ता या प्रेजेंटर विषय के बारे में जानकारी साझा करता है और उपयोगकर्ताओं के पास सवालों का समाधान करने का मौका देता है। ये आमतौर पर वेब पर ऑनलाइन या वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग टूल्स के माध्यम से संचालित किए जाते हैं। वेबिनार्स बाद में देखने के लिए उपलब्ध भी होते हैं, जिससे उपयोगकर्ताओं को बाद में उपयोग और संदर्भ के लिए उन इवेंट्स की पहुंच मिलती है।

इन साधनों के आदान-प्रदान के साथ, उपयोगकर्ताओं को विभिन्न प्रकार की सामग्री मिलती है जो कंटेंट मार्केटिंग के माध्यम से प्रदान की जा सकती है, जैसे कि:

  • ईबुक्स और व्हाइटपेपर्स eBooks and Whitepapers

ईबुक्स और व्हाइटपेपर्स विशेष रूप से व्यापारिक और तकनीकी विषयों पर गहन ज्ञान और संशोधित जानकारी प्रदान करने के लिए इस्तेमाल होते हैं। ये सामग्री उच्च-स्तरीय और विस्तृत होती है और उपयोगकर्ताओं को विशेषता में वृद्धि करने और उन्हें तकनीकी मुद्दों के साथ परिचित कराने का माध्यम प्रदान करती है।

ईबुक्स (eBooks) डिजिटल पुस्तकों के रूप में उपलब्ध होते हैं और आमतौर पर पीडीएफ या ईपब फॉर्मेट में डाउनलोड किए जा सकते हैं। इन्हें ऑनलाइन प्लेटफॉर्म, वेबसाइट या ईमेल के माध्यम से प्रदान किया जाता है। ईबुक्स उपयोगकर्ताओं को विभिन्न विषयों पर विस्तृत ज्ञान, तकनीकी विवरण, ताजगी, नवीनतम रिसर्च और सलाह प्रदान करते हैं।

व्हाइटपेपर्स एक विशेष तकनीकी दस्तावेज होते हैं जो गहन विश्लेषण, तकनीकी जानकारी, और समाधान प्रदान करने के लिए उपयोग होते हैं। ये साधारणतया उद्योग में नेतृत्व करने वाले ब्रांड या कंपनियों द्वारा प्रकाशित किए जाते हैं।

व्हाइटपेपर्स उपयोगकर्ताओं को एक विशेष समस्या के संबंध में विश्लेषण, नवीनतम तकनीकी जानकारी, समाधान और उद्योगीन तरीकों का एक गहन अध्ययन प्रदान करते हैं। ये अधिकांशतः व्यापारिक उद्देश्यों के लिए तैयार किए जाते हैं, जैसे कि एक उत्पाद या सेवा का प्रमोशन, ब्रांड प्रतिष्ठान या नए तकनीकी अद्यतन का समर्थन।

Also Read: व्यवसाय को बढ़ावा देती Content Marketing Strategy

व्हाइटपेपर्स में इसके अलावा भी कई अन्य तत्व शामिल हो सकते हैं, जैसे:

  1. विश्लेषण और ज्ञान: व्हाइटपेपर्स विभिन्न उद्देश्यों के लिए गहन विश्लेषण, तकनीकी ज्ञान और नवीनतम गतिविधियों को प्रदान करते हैं। इन्हें उपयोगकर्ताओं को विशेषता की ओर आकर्षित करने, उन्हें अद्यतन रखने और विपणन करने के लिए उपयोग किया जाता है।

  2. तकनीकी विवरण: ये व्हाइटपेपर्स में उपयोगकर्ताओं को उत्पाद या सेवा के तकनीकी विवरण, फीचर्स, कार्यक्षमता, और उनके इस्तेमाल के तरीकों की समझ प्रदान करते हैं। ये विवरण तकनीकी भाषा में लिखे जाते हैं और तकनीकी जानकारी को गहनतापूर्वक विवरणित करते हैं।

  3. उपयोगकर्ता प्रक्रिया: व्हाइटपेपर्स में उपयोगकर्ताओं के लिए उत्पाद या सेवा के उपयोग की प्रक्रिया, निर्देश, तकनीकी बाधाएं, और समस्याओं के समाधान को विवरणित किया जाता है।

कंटेंट मार्केटिंग रणनीति | Content Marketing Strategy

कंटेंट मार्केटिंग रणनीति एक महत्वपूर्ण दस्तावेज है जो कंपनी या व्यवसाय को उच्च-स्तरीय और संरचित तरीके से कंटेंट बनाने, प्रदर्शित करने, और प्रचारित करने के लिए मार्गदर्शन प्रदान करती है। एक सफल कंटेंट मार्केटिंग रणनीति उद्यम के लक्ष्यों, लक्षित निर्देशिका, और उपयोगकर्ता को मध्य धारा बनाने के लिए एक संरचित प्रयास होनी चाहिए। यह रणनीति उद्यम को अपने कंटेंट ब्रांडिंग, प्रचार, और विपणन के साथ उपयोगकर्ताओं को आकर्षित करने में मदद करती है।

कुछ महत्वपूर्ण तत्व जो कंटेंट मार्केटिंग रणनीति में शामिल हो सकते हैं वे हैं:

  1. लक्ष्य Target : कंटेंट मार्केटिंग रणनीति का प्राथमिक ध्येय लक्ष्यों को परिभाषित करना होता है। यह शामिल कर सकता है विशेष उद्देश्यों को जैसे ब्रांड उच्चारणता, उपयोगकर्ता ग्राहक लाभ, बिक्री वृद्धि, अद्यतन ज्ञान, आदि।

  2. आधेक Half content : उद्यम के उद्देश्यों के आधार पर कंटेंट मार्केटिंग रणनीति में आवश्यक आधेक को परिभाषित किया जाता है। यह आधेक कंटेंट के प्रकार, स्वरूप, और तत्वों को संप्रेषित करने के लिए उपयोग किए जाने वाले माध्यमों और कनेक्शन के बारे में हो सकते हैं। कुछ महत्वपूर्ण आधेक शामिल हो सकते हैं:

  3. लक्ष्य ग्राहक: उद्यम के लक्ष्य और उपयोगकर्ताओं के लक्ष्य के आधार पर कंटेंट का निर्माण किया जाता है। कंटेंट को ऐसे आधेक में विकसित किया जाना चाहिए जो उपयोगकर्ताओं की आवश्यकताओं और प्राथमिकताओं को समझते हैं और उन्हें समाधान प्रदान करने में मदद करते हैं।

  4. लक्ष्य माध्यम Target Medium : कंटेंट को तकनीकी और अप्रत्याशित तरीकों से प्रदर्शित करने के लिए आधेक की आवश्यकता होती है। यह शामिल कर सकता है विभिन्न माध्यम जैसे वेबसाइट, ब्लॉग, सोशल मीडिया, वीडियो, पॉडकास्ट, ईमेल, आदि।

  5. कंटेंट फॉर्मेट content format : आधेक में कंटेंट के विभिन्न फॉर्मेट की विवरणित की जाती है। यह शामिल कर सकता है लेख, ग्राफिक्स, इंफोग्राफिक्स, इंटरैक्टिव कंटेंट, सामग्री शेयर करने के लिए दस्तावेज़ या पीडीएफ, आदि। यहां यह महत्वपूर्ण होता है कि कंटेंट का फॉर्मेट उपयोगकर्ताओं को संदेश को समझने और सुलभता से पहुंचने में मदद करेगा।

  6. विचार शैली thinking style : आधेक में कंटेंट की विचार शैली का विवरण दिया जाता है। यह शामिल करता है व्याख्यान, संपादन, कहानी, उदाहरण, उद्धृति, सवाल-जवाब आदि। विचार शैली को उपयोगकर्ताओं की रुचि, उनके सामग्री को समझने की क्षमता, और उनके साथ संवाद में संरक्षा करने के लिए चुना जाता है।

कला और अभिव्यक्ति Art and Expression:

  1. कला और डिज़ाइन: आधेक में कला और डिज़ाइन के महत्वपूर्ण तत्वों की विवरणित की जाती है। इसमें आपको ग्राफिक्स, चित्र, फोटोग्राफी, वीडियो, लोगो, टाइपोग्राफी, रंग योजना, आदि के बारे में जानकारी मिलती है। यह मदद करता है कि आपका कंटेंट दृश्यप्रदर्शी और आकर्षक हो और उपयोगकर्ताओं को आपकी संदेश को समझने में मदद मिले।

  2. रंग: रंग की उपयोगिता और चयन आधेक में वर्णित किए जाते हैं। यह शामिल कर सकता है विभिन्न रंग व्यवस्थाओं, रंग प्रयोग के मानदंडों, रंग के प्रभावों और उपयोगकर्ता के मनोभाव पर प्रभाव के बारे में जानकारी। रंग का सही उपयोग आपके कंटेंट को बढ़ावा देता है और उपयोगकर्ताओं को संदेश को समझने और याद रखने में मदद करता है।

गतिविधियां और यूनिक घटनाएं:

  1. कला संग्रह: आधेक कंटेंट में कला संग्रहों के बारे में जानकारी दी जा सकती है। यह शामिल कर सकता है कला द्वारा बनाए गए आदि के उदाहरणों की सूची, कला के महत्वपूर्ण कवरेज, कला संग्रह के आयोजन और प्रदर्शनों के बारे में जानकारी। इससे उपयोगकर्ताओं को एक नए कला अनुभव की पेशकश की जाती है और उन्हें कला संग्रहों के बारे में जानकारी प्राप्त होती है।

  2. नाटकों और कार्यक्रमों: आधेक में नाटकों, कार्यक्रमों, और इंटरैक्टिव इवेंट्स के बारे में विस्तृत जानकारी दी जा सकती है। इसमें प्रदर्शनों, प्रस्तुतियों, कलाकारों, स्थानों, समय-सारणियों, और टिकट प्राप्ति के बारे में जानकारी शामिल होती है। यह उपयोगकर्ताओं को विशेष इवेंट्स और कला कार्यक्रमों के बारे में जानकारी प्रदान करता है और उन्हें उपयोगकर्ता अनुभव को समर्थन करने के लिए उपयोगी लिंक और संपर्क जानकारी प्रदान करता है।

निष्कर्ष 

आधुनिक दुनिया में कंटेंट मार्केटिंग ने एक महत्वपूर्ण और प्रभावी भूमिका निभाई है। व्यापारियों के लिए यह एक अच्छा माध्यम है उनके उद्यम को प्रचारित करने और अपने उत्पादों या सेवाओं को प्रभावी ढंग से प्रदर्शित करने के लिए।

अब कंटेंट को रंगीन, रुचिकर और सामर्थिक बनाने के लिए कला, अभिव्यक्ति, गतिविधियां और यूनिक घटनाएं का उपयोग किया जा रहा है। महामारी के बाद से कंटेंट मार्केटिंग का स्कोप और महत्त्व और बढ़ गए हैं, क्योंकि लोग इंटरनेट का उपयोग करके जानकारी प्राप्त करने के लिए और उत्पादों की खोज करने के लिए अधिक सक्रिय हो गए हैं।

TWN Special