स्वास्थ्य का ध्यान बन सकता है सफ़लता का रास्ता

1254
14 Dec 2021
9 min read

Post Highlight

स्वास्थ्य का सफलता पर न केवल प्रभाव रहता है बल्कि यह सफ़लता को नियंत्रित भी करता है। पौष्टिक भोजन को समय पर खाना अत्यधिक महत्वपूर्ण होता है साथ ही पर्याप्त मात्रा में निद्रा लेना और मनोरंजन को दिनचर्या में सम्मिलित करना आपको स्वस्थ रखता है, जो आपको सफल बनने में भी मददगार साबित होता है।

Podcast

Continue Reading..

मनुष्य का स्वास्थ्य उसकी हर एक क्रिया से जुड़ा होता है। मनुष्य को स्वयं को सुचारू रूप से क्रियाशील रखने के लिए अपने स्वास्थ्य को तंदुरुस्त रखना पड़ता है। मनुष्य की अपनी एक जीवन-शैली होती है, जिसके अनुरूप वह अपना जीवन जीता है। सुबह से लेकर शाम तक उसकी एक निश्चित तथा नियमित प्रक्रिया होती है, जिसका वह पालन करता है। हां उनकी दिनचर्या में कुछ कारणों से उथल-पुथल हो जाती है, परन्तु वह कोशिश करता है कि जिस रूप में वह अपना जीवन जीता आया है वह परिवर्तित ना हो। परन्तु हमारी दिनचर्या हमारे स्वास्थ्य को किस हद तक प्रभावित करती है, क्या हम इस बारे मेें सोचते हैं? क्या हमने यह ध्यान दिया है कि कई बार हम कोई कार्य केवल इसलिए नहीं कर पाते क्योंकि हमारा स्वास्थ्य उस कार्य के अनुरूप नहीं होता। किसी भी कार्य को करने के लिए मेहनत लगती है और यदि बात किसी नौकरी, व्यवसाय या स्टार्ट अप में स्वयं को लगाने की हो तो हमारा स्वस्थ रहना और भी आवश्यक हो जाता है। हम सब सफल होना चाहते हैं तथा हमें यह भी मालूम होता है कि हमें इसके लिए बहुत मेहनत करने की आवश्यकता है, परन्तु हम इस बात पर बिल्कुल भी ध्यान नहीं देते कि जिस प्रकार ख़ुशी के मन का रास्ता पेट से होकर जाता है, उसी प्रकार सफ़लता का रास्ता हमारे स्वास्थ्य से होकर जाता है।

स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही हमारे लिए किस हद तक हानिकारक हो सकती है इसका हम सब अंदाज़ा लगा सकते हैं। कई लोग यह कहकर बात टाल देते हैं कि 'क्या होगा ज़्यादा से ज़्यादा मर जाएंगे ना' परन्तु परेशानी दुनिया छोड़ जाने की नहीं बल्कि दुनिया में रहकर प्रतिदिन स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से जूझने की होती है।

हम किसी क्षेत्र में सफ़ल होने के लिए दिन रात मेहनत करते हैं परन्तु फ़िर भी हम सफ़लता तक नहीं पहुंच पाते। कई बार सही दिशा में ना किए गए प्रयास इसके कारण होते हैं तो कई बार हमारा अपने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही भी इसका मुख्य कारण बनता है। यह कहानी केवल उनकी नहीं जो व्यवसाय या नौकरी के लिए लगनशील हैं, बल्कि उनके साथ भी है जो पढ़ाई कर रहे हैं।

व्यवसायिक व्यक्ति के लिए स्वास्थ्य का ध्यान देना इसलिए महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यदि वह स्वस्थ नहीं रहेगा तो वह शारीरिक रूप से स्वयं को अपने व्यवसाय में उपस्थित नहीं करा पाएगा साथ ही उसे मानसिक तनाव mental stress से भी जूझना पड़ेगा क्योंकि वह अपने कार्य को शत प्रतिशत नहीं दे पाएगा। यह प्रमाणित बात है कि यदि व्यक्ति शारीरिक रूप से तंदुरुस्त रहता है तो उसे कम मानसिक तनाव होता है। यही परिस्थिति पढ़ने वाले बच्चों के साथ होती है। वह अच्छे नंबर तथा सफ़ल होने की होड़ में इतने लीन होते हैं कि सोने और खाने की दिनचर्या को पूर्ण रूप से परिवर्तित कर देते हैं। नतीजन वे बीमार पड़ जाते हैं और परिस्थिति ऐसी आ जाती है कि वे परीक्षा भी नहीं दे पाते, जिससे वे अपनी सफलता का आंकलन करते हैं।

स्वास्थ्य का सफलता पर न केवल प्रभाव रहता है बल्कि यह सफ़लता को नियंत्रित भी करता है। पौष्टिक भोजन nutritious food को समय पर खाना अत्यधिक महत्वपूर्ण होता है साथ ही पर्याप्त मात्रा में निद्रा लेना और मनोरंजन को दिनचर्या में सम्मिलित करना आपको स्वस्थ रखता है, जो आपको सफल बनने में भी मददगार साबित होता है।

TWN In-Focus