भारत में यूनिकॉर्न स्टार्टअप की बढ़ती संख्या

2724
25 Oct 2021
8 min read

Post Highlight

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से यूनिकॉर्न स्टार्टअप के बारे में बताने वाले हैं। अगर आपको यह नहीं पता कि यूनिकॉर्न स्टार्टअप क्या होता है तो इसमें आपको यह जानकारी भी बताई जाएगी।

Podcast

Continue Reading..

भारत में जहां नए स्टार्टअप बनाने का दौर चलन में है। आए दिन हर वर्ग का व्यक्ति स्टार्टअप की तरफ अपना रुख कर रहा है। भारत में स्टार्टअप साल 2020 से लेकर अब तक कोरोना काल के चलते भी काफ़ी उन्नति कर रहे हैं। कोरोना महामारी के बाद इसी वर्ष भारत में यूनिकॉर्न स्टार्टअप की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है। वेंचर इंटेलिजेंस द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के मुताबिक भारत में अब कुल 65 यूनिकॉर्न स्टार्टअप मौजूद है। खास बात यह है कि इन 65 में से 28 यूनिकॉर्न स्टार्टअप साल 2021 में बने हैं। 

यह हैरान करने देने वाला आंकड़ा है। अगर समय के पहिए को थोड़ा पीछे ले जाया जाए तो कुछ 12 वर्ष पूर्व भारत में यूनिकॉर्न स्टार्टअप के बारे में चर्चा ही नहीं होती थी। आज का समय बदल रहा है और भारत में यूनिकॉर्न स्टार्टअप की बढ़ोतरी होती जा रही। आज हम आपको इस लेख के माध्यम से यूनिकॉर्न स्टार्टअप के बारे में बताने वाले हैं। अगर आपको यह नहीं पता कि यूनिकॉर्न स्टार्टअप क्या होता है तो इसमें आपको यह जानकारी भी बताई जाएगी।

कौनसी कंपनियां कहलाती है यूनिकॉर्न स्टार्टअप

यूनिकॉर्न स्टार्टअप उन कंपनियों को कहा जाता है जिनका मूल्य 1अरब डॉलर से भी ज्यादा का हो जाता है और जिसमें निरंतर बढ़ोतरी होती रहती है। भारत में यूनिकॉर्न स्टार्टअप पहले काफी कम थी लेकिन इसमें अब धीरे-धीरे काफी बढ़ोतरी हो रही है।

 क्या कहते हैं आंकड़े 

अगर भारत में यूनिकॉर्न स्टार्टअप की बात की जाए तो आंकड़े बताते हैं कि साल 2011 से लेकर 2014 तक देश में हर वर्ष केवल एक यूनिकॉर्न स्टार्टअप बना करता थे। जिसके बाद साल 2015 में यह संख्या 4 हो गई और अगले 5 साल बाद यानी कि 2020 में यह आंकड़ा 10 पर पहुंच गया। लेकिन साल 2021 की कहानी कुछ अलग बयां करती है यह आपको हैरान कर देगी। साल 2021 में केवल 9 से 10 महीनों में भारत में 28 यूनिकॉर्न कंपनियां बन चुकी है। इस तरह की बढ़ोतरी से भारत का नाम उन देशों में शुमार हो गया है जो देश भारत से यूनिकॉर्न स्टार्टअप के मामले में काफी आगे हुआ करते थे। भारत अब अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर है। 

भारत में स्टार्टअप हो रहे मजबूत

इन सभी आंकड़ों से यह बात सिद्ध होती है कि भारत में स्टार्टअप कितने ताकतवर बनते जा रहे हैं। स्टार्टअप के काम करने का तरीका देश और दुनिया में लोगों को काफी भा रहा है। जिसके चलते पूरी दुनिया के निवेशक भारत में निवेश करने को लेकर उत्साहित हैं।

बेंगलुरु शहर टॉप पर

यूनिकॉर्न स्टार्टअप की बढ़ती संख्या में बेंगलुरु शहर सबसे ऊंची चोटी पर है। यहां अब 9 यूनिकॉर्न स्टार्टअप कंपनियां बन चुकी हैं। जबकि मुंबई में 7, गुरुग्राम में 3, चेन्नई, दिल्ली, नोएडा और पुणे में 2 और महाराष्ट्र के ठाणे में 1 यूनिकॉर्न स्टार्टअप मौजूद है।

उन्नति हर नागरिक के लिए प्रेरणा पैदा करती

भारत में जिस तरह आत्मनिर्भर भारत का निर्माण हो रहा है। स्टार्टअप बढ़ रहे हैं, भारत की उन्नति हर नागरिक के लिए प्रेरणा पैदा करती है कि वह भी स्टार्टअप शुरू करें और सफलताओं की ऊंचाइयों तक पहुंचें।

TWN In-Focus