घरेलू व्यवसाय

5862
31 Jul 2021
8 min read

Post Highlight

जितनी संभावनाएं आज हैं उतनी कभी नहीं थी क्योंकि वर्तमान हमेशा अतीत से बेहतर ही होता है या बनाया जा सकता है। दुनिया में हर तरह के व्यवसाय पनप रहे हैं कुछ छोटे, कुछ बड़े, कुछ बहुत बड़े। इन्हीं व्यवसायों में आजकल जो सबसे मत्वपूर्ण कारोबार पर रोजगार चल रहा है वह है घरेलू व्यवसाय।

Podcast

Continue Reading..

हम किसी भी दौर में जी रहे हों प्रत्येक दौर, संभावनाओं की कई आहट लेकर आता है या यूँ कहें कि प्रत्येक दौर रौशनी देता हुआ निरन्तर चलता रहता है। ऐसा नहीं है कि बीता समय आसान था आज कठिन समय है, प्रत्येक समय स्वयं में कठिन भी है और आसान भी ये आपके देखने के नज़रिए पर निर्भर करता है।

जितनी संभावनाएं आज हैं उतनी कभी नहीं थी क्योंकि वर्तमान हमेशा अतीत से बेहतर ही होता है या बनाया जा सकता है। दुनिया में हर तरह के व्यवसाय पनप रहे हैं, कुछ छोटे, कुछ बड़े, कुछ बहुत बड़े। इन्हीं व्यवसायों में आजकल जो सबसे मत्वपूर्ण कारोबार पर रोजगार चल रहा है वह है घरेलू व्यवसाय। 

घरेलू व्यवसाय की जरूरत क्यों-

किसी भी कार्य को शुरू करने के लिए ये जानना बेहद आवश्यक हो जाता है कि वह कार्य क्यों आवश्यक है या उसको करने का उद्देश्य क्या है, बिना ये जाने कार्य की शुरुआत ही आपको थका देगी,  तो बात करते हैं उसकी ज़रूरत की। 

1) पैसा- मानव जगत की महत्वपूर्ण से महत्वपूर्ण जरूरत है । पैसा घरेलू उद्योग या व्यवसाय में आप थोड़ा पैसा लगाकर आप अपने व्यवसाय को शुरू कर सकते हैं। और निरंतर उसे आगे बढ़ाते हुए अपने व्यवसाय पर पकड़ बना सकते हैं और लाभ की ओर कदम बढ़ा सकते हैं।

2) बुनियादी ज़रूरतें- व्यक्ति की जो प्रारम्भिक आवयश्कता है वह क्या है ? वह यह की समाज में उसका कद कितना मजबूत है या उसे कितना मजबूत बनाना है उसकी वर्तमान स्थिति कितनी मजबूत है। रोटी, कपड़ा, और तमाम बुनियादी जरूरतों को वह पूरा कर सकेगा।

3) सामाजिक स्वातता और स्थिति-: व्यक्ति की बेसिक ज़रूरतें यदि पूरी हों तो वह समाज में सर उठा कर चलने और नए विषयों पर विचार कर पाता है वह बच्चों को अच्छा पढ़ा सकता है उनकी ज़रूरतें पूरी कर सकता है और समाज में सीधा खड़ा हो सकता है। जो कि सम्भवता आप घरेलू व्यापार के ज़रिए भी कर सकते हैं। 

4) कोविड के दौर में घरेलू व्यवसाय पर ज़ोर- जिस तरह से कोविड-19 ने पूरी दुनिया में पैर फैला रखे हैं उसको देखते हुए दुनिया के तमाम देश 'वर्क फॉर्म होम' की पद्दति अपना कर चल रहे हैं। इसका सीधा लाभ घरेलू व्यवसाय को मिला है उनकी डिमांड में बढ़ोतरी हुई। सरकारों ने भी इस पर ज़ोर देते हुए आत्म निर्भर भारत बनाने की नींव डालते हुए घरेलू व्यवसाय को भी उड़ान के पंख दिए हैं।

घरेलू व्यवसाय का विचार या उसको शुरू करने की आकांक्षा व्यक्ति की ज़रूरत तय करती है। सरल सा गणित है प्यास लगती है तो कुआं खोदना तो पड़ेगा ही।

अब अगर बात करें कि क्या क्या घरेलू व्यवसाय हो सकते हैं और उनको कैसे शुरू किया जाए कम लागत में। व्यापार का सीधा सा लक्ष्य होता है कम लागत अधिक नफ़ा। मगर हमें इस बात का भी ख़्याल रखना होगा कि उससे दूसरों को भी लाभ हो न कि हानि।

1) टेलरिंग व्यवसाय- यह एक लंबे समय से चलता आ रहा व्यवसाय है, जिसके द्वारा महिलाओं को काफ़ी रोजगार मिला है और उनकी आजीविका का साधन बना है। इस कार्य को आप कम से कम पैसे में शुरू कर सकते हैं। और धीरे-धीरे अपने कार्य में विविधता ला सकते हैं। हुनर धीरे-धीरे बढ़ता है। एक टेलर चाहे, तो तमाम तरीक़े के कपड़े सिल सकता है या एक ही तरीके के तमाम कपड़े सिल सकता है ।

ये उसकी प्रतिभा पर निर्भर करता है। जो धीरे-धीरे आपको एक सफल टेलर बनाने के लिए काफी है।

2) फ़ूड स्टाल - फ़ूड स्टाल एक बहु चर्चित व्यवसाय है। आजकल बहुत ही तरह के पकवान देखने को मिलते हैं । एक समय था जब समोसा,जलेवी, आलू की चाट ये सब काफ़ी बिकते थे। पढ़कर मुँह में पानी आना लाज़मी है। ख़ैर, धीरे-धीरे पश्चिम के खानपान ने अपने देश में पैर पसारे तो खाने पीने की चीजों की संख्या बढ़ गयी है, जिसने लोगों को रोजगार भी दिया और ग्राहकों को स्वाद भी दिया। अब तो आप घर पर कुछ भी बना सकते हैं आज के समय में होम डिलीवरी के ज़रिए लोगों के घर तक पहुँचा सकते हैं। इसमें भी कम लागत में अधिक मुनाफा है। बस हमें एक बात का विशेष ध्यान देना होगा कि हमारा ध्यान गुड़वत्ता पर अधिक होना चाहिए न कि पैसा कमाने पर।

3) अचार का व्यवसाय- अचार का नाम सुनते ही मुँह में पानी आ जाता है। अब सोचिए यदि आप इसको एक व्यवसाय तौर पर शुरू करते हैं, तो पैसा बनेगा और इसको भी कम से कम लागत में शुरु किया जा सकता है। सबसे अच्छा ये है कि ये महिलाओं को रोजगार देने के लिये अच्छा व्यवसाय है। आप धीरे- धीरे आसपास के लोगों को भी जोड़ सकतें हैं। 

4) किराना स्टोर- अगर आपके आसपास रोज़मर्रा की वस्तुओं की दुकान कम हैं या घर से काफी दूर हैं, तो यह आपके लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है। कम लागत में आप दुकान डाल सकते हैं यदि आपके घर की बनावट वैसी नहीं है, तो आसपास दुकान देख सकते हैं अपना व्यवसाय खोलने के लिए। इस व्यवसाय में उन्नति के अधिक अवसर हैं और किराना स्टोर से अच्छी कमाई हो जाती है, धीरे- धीरे आपका व्यवसाय बढ़ेगा ।

5) ऑनलाइन कपड़ा व्यवसाय- आजकल सबसे ज्यादा इस काम को प्राथमिकता दी जा रही है। आप घर बैठे अपने आसपास की दुकानों से आप समझौता कर लीजिए कि ऑनलाइन उन लोगों को दुकान के कपड़े बेच कर प्रतिशत के रूप में दोनों को मुनाफ़ा कमाने के प्रति तैयार किया जा सकता है।

6) कलात्मक व्यवसाय- यह विषय काफी व्यापक है क्योंकि इसमें कई तरह के कार्य आ जाते हैं, जो रचनात्मकता की श्रेणी में रखे जा सकते हैं जैसे यदि आप गिटार अच्छा बजाना जानते है, पेंटिंग करना जानते हैं, डांसिंग करना जानते हैं, तो आप लोगों को सिखा सकते हैं। पेंटिंग को आप सेल भी कर सकते हैं।

सबसे अच्छी बात ये है या व्यवसाय में आपको लगभग न के बराबर लागत लगानी होती है और मुनाफ़ा आपके कार्य शैली पर निर्भर करता है।

7) अगरबत्ती बनाने का व्यवसाय- इस व्यवसाय को आप थोड़ा सा पैसा लगा कर शुरू कर सकते हैं। प्राचीन काल से ही ईश्वर की आराधना और आस्था में मानव जाति का रुझान रहा। इसी के चलते जहाँ आजकल बाजार में प्रतियोगिता का युग चल रहा है वहाँ व्यवस्थित ढंग से किफ़ायती मूल्य में अगरबत्ती का कार्य शुरू कर सकते हैं। घरेलू व्यवसाय का एक अच्छा उदाहरण है, अगरबत्ती का कारोबार।

8) सामान लाने वाले थैले - आज के दौर में जहाँ प्लास्टिक ने पूरी दुनिया को अपने भीतर कैद कर लिया है। वह प्लास्टिक धीरे धीरे कभी न मरने वाली लाशों के ढेर में बदलती जा रही है। ऐसे में समाज को एक नई दिशा देने हेतु कपड़े के थैले, टाट के थैले, इस तरह से काफी-काफी तरह के आइटम बन सकते हैं, इसमें लागत  कम और लाभ ज़्यादा है। 

जिन खोज तीन पाईयाँ जैसा मस्तिष्क रखना चाहिए। कार्य और भी हो सकते हैं और होंगे भी। आप के जानने की इक्षा और कार्य करने की लगन किसी भी कारोबार को एक छोटे स्तर से बड़े स्तर तक ले जा सकते हैं आपके सामने दुनिया भर के तमाम उदाहरण हैं।

तो चलिए फिर शुरू करते हैं कोई घरेलू व्यवसाय।

TWN Special