शेयर मार्केट में निवेश के लिए क्यों जरूरी है डीमैट अकाउंट

1584
23 Jan 2022
6 min read

Post Highlight

शेयर मार्केट में इन्वेस्ट कर के लाखों कमाना आज हर किसी युवा को अपनी और आकर्षित कर रहा है।क्योंकि पिछले कुछ सालों में शेयर मार्केट का ट्रेंड काफी बढ़ गया है। जब भी शेयर मार्केट की बात होती है तो अक्सर demat account का भी नाम आता है तो आप में से शायद बहुत से लोग इसके महत्व को नहीं होंगे लेकिन आज हम आपको बताएंगे शेयर मार्केट में निवेश के लिए क्यों जरूरी है डीमैट अकाउंट।

Podcast

Continue Reading..

तो दोस्तों अगर आपको भी शेयर मार्केट के इस बढ़ते ट्रेंड को फ़ॉलो करना है तो सबसे पहले आपको किसी भी शेयर को खरीदने से पहले (demat account) डीमैट खाता होना अनिवार्य है। अब आप सोच रहें होंगे कि आखिर क्यों जरूरी है डीमैट अकाउंट तो दोस्तों आप शेयर मार्केट में इन्वेस्टमेंट करते समय जो भी लेन-देन होता है वो आपके डीमैट अकाउंट से ही किया जाता है आइए नीचे जानते है की क्या होता है डीमैट अकाउंट और इससे जुड़ी सारी जानकारी को ।

डीमैट अकाउंट आपके बैंक खाते की तरह ही एक खाता होता है जो समान रूप से आपके बैंक खाते की तरह ही काम करता है। ये इसलिए उपयोग में लाया जाता है क्योंकि शेयर बाजार को चलाने वाली SEBI ( Securities And Exchange Board Of india) दिए गए निर्देश के बाद ये सपष्ट हो गया कि बीना डीमैट अकाउंट के शायरों को खरीदा और बेचा नहीं जा सकता इसलिए आज जब भी share market trading की बात आती है तो सबसे पहले इनवेस्टर डीमैट अकाउंट खुलवाते है। डीमैट अकाउंट का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसे आप जीरो बैलेंस के साथ भी ओपन करवा सकते है। लेकिन ये जरूर ध्यान दे कि शेयर मार्केट में निवेश करने के लिए सिर्फ डीमैट ही नहीं बल्कि बैंक अकाउंट, ट्रेडिंग अकाउंट होना भी जरूरी है। ये इसलिए अनिवार्य है क्योंकि डीमैट खाते में आप शेयर्स को डिजिटल रूप से अपने पास रख सकते हैं और ट्रेडिंग अकाउंट से शेयरों को गोल्ड,म्युचुअल फंड्स आदि में निवेश कर सकते हैं।अगर आप भी ट्रेडिंग की दुनियां में अपने करियर की सुरुआत करना चाहते हैं तो सबसे पहले आपको ये पता होना चाहिए कि डीमैट अकाउंट कैसे खोलें यदि आपको इसके बारे में प्राप्त जानकारी नहीं है तो कोई बात नहीं इसे खोलना बहुत असान है आप किसी भी ब्रोकर के साथ जैसे एंजेल ब्रोकिंग,icici डायरेक्ट आदि के साथ खोल सकतें है।

ब्रोकर का चयन करने के बाद उनकी वेबसाइट पर जाएं और डीमैट अकाउंट खोलने का फॉर्म भरने का आवेदन करें। फिर आपको अपना KYC process को पूरा करना हैं। इसके लिए फोटो आईडी प्रूफ, एड्रेस प्रूफ जैसे डॉक्यूमेंट की आवश्यकता होगी। जब ये प्रोसेस पूरा हो जाएगा तो उसके बाद इन-पर्सन वेरिफिकेशन होता है। जिसके बाद लास्ट आपको ब्रोकरेज फर्म के साथ turn of agreement साइन करना है। बस अब आप ट्रेडिंग के लिए तैयार है यानि आपका डीमैट अकाउंट खुल गया।

अंत में हमें उम्मीद है कि अब आप डीमैट अकाउंट के इस शब्द को अच्छे से समझ गएं है लेकिन आप जब भी ट्रेडिंग करने के लिए डीमैट अकाउंट खुलवाएँगे तो ये जरूर याद रखें कि इसे खुलवाने के लिए कुछ शर्तें दी गई हैं जिसे माने बीना आप ये प्रोसेस पूरा नहीं कर सकते। इसकी सबसे पहली शर्त आपकी उम्र है,यदि आप 18 साल से ऊपर के हैं और आपके पास अपना पैन कार्ड, बैंक अकाउंट आइडेंटिटी और एड्रेस प्रूफ है तो ही इसे खोलने का प्रयास करें।

TWN In-Focus