फेलियर का सामना कैसे करें?

886
12 Feb 2022
8 min read

Post Highlight

हम सबने कभी ना कभी ऐसी सिचुएशन में खुद को ज़रूर देखा होगा जब हम असफलता के बारे में सोचते भी नहीं हैं और ऐसे वक्त में असफलता मिलने पर हमें समझ नहीं आ आता कि आगे करें भी तो क्या करें। फेलियर failure, एक बेहद नकारात्मक शब्द है लेकिन असफल होने पर किसने फेलियर का सामना कैसे किया, यह तय करेगा कि वह व्यक्ति भविष्य में कितना सक्सेसफुल बनेगा।

Podcast

Continue Reading..

कभी-कभी हम अपने पैशन से जुड़े कामों में इतने लीन हो जाते हैं कि अपने पर्सनल टाइम से भी वक्त चुरा कर हम बस दिन-रात मेहनत करते रहते हैं। मेहनत करने पर हमारी उम्मीदें भी खुद से बढ़ जाती हैं कि अब चाहे कुछ भी हो जाए, मैं फेल नहीं हो सकता। हम सबने कभी ना कभी ऐसी सिचुएशन में खुद को ज़रूर देखा होगा जब हम असफलता के बारे में सोचते भी नहीं हैं और ऐसे वक्त में असफलता मिलने पर हमें समझ नहीं आ आता कि आगे करें भी तो क्या करें।

फेलियर failure, एक बेहद नकारात्मक शब्द है लेकिन असफल होने पर किसने फेलियर का सामना कैसे किया, यह तय करेगा कि वह व्यक्ति भविष्य में कितना सक्सेसफुल बनेगा। आज हम आपको बताएंगे कि फेलियर का सामना deal with failure कैसे करें-

1. नेगेटिविटी को खुद पर हावी ना होने दें

हार मिलने पर अच्छे से अच्छे लोगों को खुद पर शक होने लगता है कि शायद मैं इस काम के लिए बना ही नहीं हूं। ऐसे में कॉन्फिडेंट महसूस ना करना feeling under-confident, बुरा लगना और नेगेटिव महसूस करना जायज़ है और ये सभी के साथ होता है। आप को कुछ दिनों के लिए ब्रेक लेना चाहिए ताकि आप अपनी गलती जान सकें। खुद को मोटिवेट रखें keep yourself motivated और अपने सोचने का ढंग बदलें। बार-बार खुद से कहें कि आज मुझसे गलती हो गई लेकिन मुझे इस गलती से सबक लेना है और आगे बढ़ते रहना है। इस वक्त आपको खुद को समझाना है और खुद पर विश्वास करना है। 

2. फीलिंग्स को ना छुपाएं

आज आपको असफलता मिली है इसीलिए आप दुखी हैं लेकिन वहीं अगर आज आपको सफलता मिलती तो आप खुश होते और सबको इस बारे में बताते। इमोशंस को छुपाएं नहीं और उसे अपनाइए। खुद से बताएं कि किन गलतियों की वजह से आज आप असफल हुए हैं और आगे से आप किन बातों का ध्यान रखेंगे, खुद को समय दें।

3. दूसरों से सीखें Learn from others

आप पहले व्यक्ति नहीं हैं, जिसे फेलियर का सामना करना पड़ा है इसीलिए समझदारी से काम लें और दूसरों की गलतियों से सीखें। हार का डट कर सामना करिए। 

4. अपनी गलती मानें Accept your mistakes

अगर आपको असफलता मिली है तो ज़रूर आपने कोई गलती की होगी या आपके प्रयास में कुछ कमी होगी। अपनी गलती मानें और फेलियर से सीखें कि भविष्य में आपको क्या गलती नहीं करनी है। याद रखें कि जो इंसान अपनी गलतियों से सीखता है, उसे कोई नहीं हरा सकता।

5. फेलियर से डरें नहीं

फेलियर मिलने पर कभी भी दूसरी बार प्रयास करने से ना डरें। ऐसा अक्सर होता है कि एक बार असफलता मिलने पर हमें दूसरी बार प्रयास करने से भी डर लगने लगता है कि अगर इस बार भी हम फेल हो गए तो क्या होगा। अगर इस तरह से हर कोई सोचने लगता तो इस दुनिया में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होता, जो सफल होता इसीलिए प्रयास करते रहें। प्रयास करने पर अगर सफलता नहीं मिली तो कोई बहुत ज़रूरी सीख मिल जाएगी। 

6. आगे की प्लानिंग करें

फेलियर मिलने पर कुछ दिन के लिए ब्रेक लेने के बाद अब आपको आगे की प्लानिंग करनी होगी। फिर से एक बार पूरी सकारात्मक ऊर्जा के साथ प्लानिंग में लग जाइए और पूरे फोकस के साथ काम शुरू कर दीजिए।

TWN In-Focus