अन्नदाता, भारत के विधाता "किसान दिवस"

2125
23 Dec 2021
5 min read

Post Highlight

23 दिसंबर को पूरे भारत में किसान दिवस के रूप मनाया जाता है। किसानों के योगदान को प्रदर्शित करने एवं उन्हें सम्मानित करने सम्बन्धी कई कार्यक्रमों का पूरे देश में आयोजन भी किया जाता हैं। लेकिन क्या आपको पता है आख़िर इस दिन का इतना महत्व क्यों है?

Podcast

Continue Reading..

23 दिसंबर को पूरे भारत में किसान दिवस farmers day के रूप मनाया जाता है। किसानों के योगदान को प्रदर्शित करने एवं उन्हें सम्मानित करने सम्बन्धी कईकार्यक्रमों का पूरे देश में आयोजन भी किया जाता हैं। लेकिन क्या आपको पता है आख़िर दिन का इतना महत्व क्यों है?

भारत सरकार govt of india ने 2001 में चौधरी चरण सिंह Choudhary Charan Singh की जयंती पर किसान दिवस को मनाने की घोषणा कि थी जो भारत के पाँचवे प्रधानमंत्री थे, उनका जन्म 23 दिसंबर 1902 में हुआ था। चौधरी चरण सिंह ख़ुद भी एक किसान परिवार के थे उन्हें किसानों की मेहनत,समस्याओं आदि का पूरा एहसास था इसलिए उन्होंने सबसे पहले किसानों की स्थिति सुधारने का काम किया और कई कल्याणकारी योजनाएं welfare schemes भी शुरू की। प्रधनमंत्री चौधरी चरण सिंह को किसानों का मसीहा भी कहा जाता है इसलिए उनके जन्मदिन के अवसर पर यह दिन हर साल मनाया जाता है।

2021 की बात करें तो आज का दिन किसानों के लिए और भी ख़ास रहा होगा क्योंकी पिछले लगभग 1 साल से आंदोलन कर रहे किसानों को आख़िरकार जीत हासिल हो गई। सरकार ने किसान आंदोलन को रोकने के लिए तीनों कृषि कानूनों agriculture laws को वापिस लेकर किसानों की मांगों को स्‍वीकार कर लिया है।

किसानों का सम्मान 

अगर हम अपने समान्य जीवन की बात करें तो किसान हमारे लिए जीवन में बड़ी अहम भूमिका निभाते हैं और अगर देश की प्रगति को देखें तो इसमें भी किसान नंबर वन हैं। इसलिए हमें उनके अमूल्य योगदान को याद रखते हुए उनका सम्मान करना चाहिए। किसान दिवस का मुख्य उद्देश्य यही है कि उनकी कड़ी मेहनत के योगदान को सराहा जाए। आज के दिन देश में इस अवसर पर किसान जागरूकता से लेकर कई तरह के कार्यक्रम आयोजित करवाए जाते  हैं। किसान दिवस केवल भारत में ही नहीं दुनिया के अन्य देशों में भी मनाया जाता है।

किसानों को सशक्त बनाने के प्रयास 

आज की नई-नई टेक्नोलॉजी के विकास के साथ  किसानों को भी पढ़ना-लिखना भी आना चाहिए ताकि वह अपने क्षेत्र में भी अलग-अलग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर सकें और अपनी खेती में उन्नति कर लगातार आगे बढ़ते रहें। किसान दिवस मनाने का यह भी एक उदेश्य है कि यह कृषि क्षेत्र में हर नई जानकारी से अवगत रहें और सशक्त बने ताकि हम विकास के मामले में हमेशा आगे रहें।

किसानों का महत्व

किसान एक मुट्ठी भर बीजों से इतनी बड़ी फसल तैयार कर देता है इसलिए किसानों को अन्नदाता- भारत के विधाता the creator of india के नाम से पुकारा जाता है। किसानों के महत्व को दुनियाँ का हर व्यक्ति समझता है लेकिन फ़िर भी अगर हम एक पल के लिए सोचें की किसानों के बिना हमारा जीवन कैसा होता तो शायद हम कल्पना भी नहीं कर सकते। किसानों की कड़ी-मेहनत द्वारा उपजाए हुए दाल,चावल,गेहूँ,फल- सब्जिओं आदि से ही हमारा पेट भरता है। किसानों के बिना हमारे जीवन का कोई अस्तित्व नहीं होता इसलिए ये बात सच है की हमारे जीवन का मुख्य हिस्सा है किसान।

राष्ट्रीय किसान दिवस National Farmers Day की शुभकामनाएं और संदेश

‘’क्या कभी सोचा है आपने दिन-दोपहर की तपती धूप  में जलकर हमरे लिए अन्न उगाता है किसान"

"क्या कभी सोचा है आपने पूरा जीवन हमारे लिए खेतों में गुजार देता है किसान"

" हम चंद मिनटों में फेंक देते है अपना जूठा खाना”

इसलिए हमेशा इस बात का ध्यान रखें खाना उतना ही ले जितना उसे खा सकें,खाने की बर्बादी अन्नदेवता ,हमारे किसानों का अपमान है ।

याद रखे "उतना ही लीं थाली में,व्यर्थ ना जाये थाली में"

अंत में आप सभी को राष्ट्रीय किसान दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं ।

TWN In-Focus