सूखे फूलों का व्यावसायिक लाभ एवं तरीका

1635
11 Nov 2021
8 min read

Post Highlight

सभी भारतीय और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में सूखे फूलों की मांग भी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। अगर आपके मन में यह सवाल है कि आप सूखे फूलों को कैसे बेच सकते हैं, तो आप इसे ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से बेच सकते हैं। आज हम आपको सूखे फूलों को बनाने का तरीका और इससे होने वाले लाभ के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

Podcast

Continue Reading..

सूखे फूलों का व्यापार Dried flowers Business आज के दौर में एक उभरता हुआ व्यवसाय बन चुका है। भारत में इस तरह के व्यवसाय को करीब 40 साल पूरे हो चुके हैं। कई भारतीयों ने सूखे फूलों का व्यापार करके इसे अच्छी खासी कमाई का जरिया बना लिया है। सभी भारतीय और अंतरराष्ट्रीय बाजारों में सूखे फूलों की मांग भी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। आज हम आपको सूखे फूलों को बनाने का तरीका और इससे होने वाले लाभ के बारे में जानकारी देने वाले हैं।

क्या है लाभ

सूखे फूलों से कई तरह की चीजों का निर्माण किया जाता है। जैसे कि हाथ से बना कागज, ग्रीटिंग कार्ड्स, गिफ्ट्स, किताबें, बक्से, लैंपशेड, परफ्यूम, गुलदस्ते, फोटो फ्रेम, हस्तशिल्प, मोमबत्ती स्टैंड, साबुन, जूट के बैग दीवारों को सजाने का सामान आदि। इसके अलावा भी सूखे फूलों से कई चीजें बनाई जाती हैं। यह व्यवसाय आपको काफी लाभ प्रदान कर सकता है। 

फूलों को सुखाने का तरीका

जब आप सूखे फूलों का व्यापार शुरू करेंगे तो आपके दिमाग में यह प्रश्न उठेगा कि फूलों को सुखाया कैसे जाए तो हम आपको बताते हैं कि किस तरह फूलों को सुखाकर इसका व्यापार कर सकते हैं। फूलों को सुखाने की प्रक्रिया में फूलों को सिखाया जाता है और फूलों को रंग किया जाता है, यानी की Dye किया जाता है।

फूलों को सुखाने के लिए धूप की रोशनी का उपयोग किया जाता है। फूलों के गुच्छे बनाकर उन्हें धूप में रख दिया जाता है। इस तरह की प्रक्रिया में Chemicals का इस्तेमाल वर्जित रहता है। 

एक अन्य विधि में फूलों को मशीनों द्वारा ठंडा करके जमा कर लिया जाता है। इस तरह की मशीनें बहुत महंगी आती है, परंतु फूलों की गुणवत्ता Quality बहुत अच्छी रहती है। इस प्रक्रिया से गुणवत्ता के करण बाजार में काफी अच्छे दाम प्राप्त होते हैं।

फूलों को सुखाने के लिए Glycerine का भी इस्तेमाल किया जाता है। फूलों को नमी से निकालकर उसमें ग्रीस्लीन लगा दिया जाता है। इस प्रक्रिया से भी बेहद अच्छी गुणवत्ता वाले सूखे फूल प्राप्त किए जाते हैं।

 सिलिका का उपयोग

सूखे फूलों को बनाने के लिए सिलिका जेल Silica Gel का भी इस्तेमाल किया जाता है। फूलों को सिलिका जेल लगाकर सूखाया जाता है जिससे काफी अच्छी गुणवत्ता वाले सूखे फूल बन जाते हैं।

फूलों पर रंग चढ़ाकर Dye व्यापार 

फूलों को सुखाने के साथ-साथ उन पर रंग करना बहुत जरूरी होता है। इससे उन्हें बेचने में आसानी होती है। फूलों को कई तरह के रंगों से रंगा जाता है। पानी और कलर मिलाकर गरम करने के बाद एसिटिक एसिड का इस्तेमाल भी किया जाता है। नर्म फूल प्राप्त करने हेतु मैग्नीशियम क्लोराइड Magnisium Chloride का भी इस्तेमाल किया जाता है। फूलों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए यह प्रक्रिया अपनाई जाती है। मिश्रण बनाकर फूलों को अच्छी तरह डुबा दिया जाता है। जिससे फूलों पर रंग चढ़ जाता है।

सूखे फूलों का उपयोग

भारत में कई वर्षों से सूखे फूलों का व्यापार किया जा रहा है। देश और विदेश में कई जगह पर सूखे फूलों को निर्यात किया जाता है। फूलों को सुखाकर उनमें सुगंधित चीजों का इस्तेमाल कर पॉलिथीन बैग में या फिर एक पैकेट में रखकर उसे कई जगह इस्तेमाल किया जाता है, जैसे कि बाथरूम, अल्मेरा या फिर बेडरूम आदि। फूलों की कई प्रजातियों को सुखाकर इसका उपयोग अलग-अलग तरह की चीजों में किया जाता है। जिसमें गुलाब, कमल, कपास के फूल, लेवेंडर सबसे मुख्य हैं।

कैसे बेचे सूखे फूल 

अगर आपके मन में यह सवाल है कि आप सूखे फूलों को कैसे बेच सकते हैं, तो आप इसे ऑनलाइन वेबसाइट के माध्यम से बेच सकते हैं। आप अपनी खुद की वेबसाइट बनाकर इसका व्यवसाय शुरु कर सकते हैं, आप किसी अन्य वेबसाइट पर जाकर अपने व्यापार को शुरू कर सकते हैं। इसके अलावा आप सूखे फूलों के Export हाउस में भी अपने सूखे फूलों को बेच सकते हैं। भारत में कई जगह हस्तशिल्प मेले लगा करते हैं, आप इसमें भी अपने सूखे फूलों के उत्पाद बनाकर बिक्री बढ़ा सकते हैं।

TWN In-Focus