Craft Industry में Business Growth

735
03 Mar 2022
6 min read

Post Highlight

‘शिल्प’ craft शब्द कौशल skill को दर्शाता है, जो आमतौर पर सजावटी कला Decorative Arts की शाखाओं में या एक संबद्ध कलात्मकता artistic में दर्शाया जाता है। शिल्प की एक प्रमुख विशेषता यह है कि उनमें मशीन द्वारा कार्य नहीं बल्कि हाथ से रचनात्मकता बिखेरी जाती है जिसे शिल्प कौशल या हस्तशिल्प भी कहा जाता है।

Podcast

Continue Reading..

कला का मतलब सिर्फ आधुनिकता Modernization की तरफ बढ़ना नहीं बल्कि छोटे-छोटे विभिन्न क्राफ्ट वर्क को बढ़ावा देना भी है। भारत में शिल्पकला Craft Work को नया आयाम देने के लिए सरकार Government द्वारा क्राफ्ट को बढ़ावा दिया जा रहा है। सरकार कलाकारों को मार्केटिंग Marketing, डिजाइनिंग Designing और सेलिंग Selling के बारे में पूरी जानकारी पहुंचा रही है।  

उत्तर प्रदेश (UP) में एक जिला एक उत्पाद (One District One Product) योजना के शुभारंभ के बाद पारंपरिक क्षेत्रीय हस्तशिल्प Handycraft की एक विस्तृत विविधता की बढ़ती लोकप्रियता Popularity को देखते हुए, प्रदेश सरकार हस्तशिल्प पार्क Handycraft park का भी निर्माण कर रही है। जो पारंपरिक शिल्प का संरक्षण करेगा, राज्य के हजारों कारीगरों को रोजगार Employment प्रदान करेगा और साथ ही राज्य की अर्थव्यवस्था Economy में हस्तशिल्प क्षेत्र के योगदान को बढ़ावा देगा। यूपी अपने समृद्ध पारंपरिक हस्तशिल्प Traditional Handicrafts के लिए प्रसिद्ध है, जिसमें बनारसी साड़ी Banarasi saree, मुरादाबाद के पीतल के काम Brass work, कन्नौज के इत्र Perfume, लखनऊ के चिकनकारी शामिल हैं। वास्तव में, राज्य के प्रत्येक जिले में कम से कम एक विशेष उत्पाद Special product है जो इसकी पहचान का अभिन्न अंग है। हाथों से बनी इन कलात्मक चीज़ों को विदेशी लोग foreigners भी खूब पसंद करते हैं। 

अगर बात करें हेंडीक्राफ्ट बिज़नेस की तो भारतवर्ष में In India हेंडीक्राफ्ट बिज़नेस handicraft business का इतिहास History बहुत पुराना है। हालांकि, हमारा देश कलात्मक प्रतिभा का पहले से धनी Rich in Creativity रहा है। कई दशकों से हैंडीक्राफ्ट Handicraft से जुड़े कारीगरों द्वारा रचनात्मक तरीके से राष्ट्र की सांस्कृतिक cultural प्रतिभा को दर्शाया जाता रहा है। और यह हेंडीक्राफ्ट बिज़नेस business वर्तमान में लाखों करोड़ों लोगों को रोजगार दे रहा है। साथ ही ग्रामीण इलाकों Rural areas के लोग मुख्य रूप से इस बिज़नेस से लाभान्वित Benefit हो रहे हैं। भारत में हैंडीक्राफ्ट Handicraft में बहुत सारे उत्पाद products हैं, और ये सभी एक दूसरे से अलग हैं।

यदि आप हैंडीकाफ्ट बिज़नेस शुरू करना चाहते हैं तो आपके लिए ये क्षेत्र बहुत बड़ा हो सकता है। हैंडीक्राफ्ट बिज़नेस द्वारा आप आसानी से सफलता Success प्राप्त कर सकते हैं क्योंकि आजकल सभी लोग हाथ से बनी हुई वस्तुएं बहुत पसंद कर रहे हैं, चाहे वह भारत India में हों या विदेश foreign में। 

हम आपको बताएंगे की आप किस तरह के हेंडीक्राफ्ट बिज़नेस कर सकते हैं-

हैंडीक्राफ्ट व्यवसाय Handicraft business में अनेकों उत्पादों products का निर्माण किया जाता है। अलग-अलग सेक्टर Sector के आधार पर हैंडीक्राफ्ट उत्पादों Handicraft Products को कई श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है।

सामान्य हैंडीक्राफ्ट वस्तुएं General Handicraft Items: 

यदि आप इस क्षेत्र में नए हैं तो हैंडीक्राफ्ट बिज़नेस शुरू करने के लिए आप सामान्य हैंडीक्राफ्ट वस्तुओं Handycraft things से शुरू कर सकते हैं जैसे लकड़ी Wood, पत्थर Stone, धातु Metal, शीशा Mirror, छड़ी, और बांस bamboo इत्यादि से निर्मित वस्तुएं हो सकती हैं। इनमें मुख्य रूप से देवी देवताओं की मूर्तियां Sculptures, गुल्ल्क Piggy Bank, फ्लावर पॉट  Flower Pot, मैडल, ट्रॉफीज Trophies, फोटो फ्रेम Photo Frame, टोकरी Basket  इत्यादि बनायीं जाती हैं। आज इस आधुनिकता के दौर में भी लोग हेंडीक्राफ्ट वस्तुओं को बहुत पसंद कर रहे हैं। आप सामान्य हैंडीक्राफ्ट वस्तुयों से भी अपने बिज़नेस की यात्रा को शुरू कर सकते हैं। 

हथकरघा और कपड़ा Handloom and Textiles: 

आप अपना व्यवसाय हथकरघा और कपड़ों के क्षेत्र में भी शुरू कर सकते हैं। इस श्रेणी में वे वस्तुएं आती हैं जिन्हें घर की साज सज्जा Decoration हेतु तैयार किया जाता है। इसमें आम तौर पर हाथों से डिज़ाइन किये गए चादरें, तकिए, तकिए के कवर, चटाई, बैग, sheets, pillowcases, pillow covers, mats, bags, और अन्य घरेलु वस्तुएं आती हैं। 

गहने Jewelry : 

हैंडीक्राफ्ट में व्यवसाय का सबसे अच्छा क्षेत्र गहने भी हो सकता है। भारत में हैंडीक्राफ्ट इंडस्ट्री Handicraft Industry में गहने अर्थात आभूषण बनाने हेतु लोहे, मनके, चांदी एवं अन्य धातुओं का उपयोग किया जाता है। हालांकि गहनों को जिन आकर्षक बक्सों Box में रखा जाता है उन बक्सों का निर्माण भी मुख्य रूप से छोटे स्तर के आदिवासी कारीगरों Workers द्वारा ही किया जाता है। इस क्षेत्र में आप गले के, नाक के, कान के, पैरों के लगभग सभी प्रकार के गहने तैयार कर सकते हैं। 

पारम्परिक पोशाक एवं उपकरण Traditional dress and equipment: 

यह क्षेत्र व्यवसाय Business का एक बहुत अच्छा जरिया हो सकता है। आदमी, औरतों तथा बच्चों Male, Female, Children के पारम्परिक पोशाक का निर्माण हाथ की कला जानने वाले कारीगरों के द्वारा ही किया जाता है जिसे लोग खूब पसंद भी करते हैं। कारीगरों द्वारा पोशाकों को जरी बूटी के माध्यम से आकर्षक Attractive बनाने का काम भी किया जाता है साथ ही पारंपरिक पोशाकों से जुड़े उपकरणों का निर्माण भी किया जाता है। 

कार्पेट Carpets :

हम सभी जानते है कि भारत में निर्मित कार्पेट सदियों से विश्व विख्यात World famous रहे हैं। हमारे देश के कारीगरों द्वारा उत्पादित ऊन और रेशम से निर्मित कारपेट बहुत अधिक प्रचलन में हैं जिन्हें विदेश में भी लोग इस्तेमाल करते हैं। इसके अलावा विदेशों में अब भी इसकी मांग उतनी ही है और इसमें भारत की अच्छी कमाई आज भी बरक़रार है।

लैदर आइटम Leather item

व्यवसाय के नजरिये से लैदर की वस्तुएं बहुत अधिक प्रभावित Effective होती हैं। यह एक ऐसी वस्तु है जिससे निर्मित वस्तुओं को देश विदेश में काफी पसंद किया जाता है। बेल्ट, पर्स, जूते, चप्पल, जैकेट इत्यादि बनाने में भारतीय कारीगरों द्वारा इसका उपयोग सदियों से किया जाता रहा है।

चित्र Paintings

अपनी कल्पना Imagination को कैनवास पर उतारना एवं भिन्न-भिन्न वस्तुओं के अंदर या बाहर चित्र बनाना एक अद्भुत कला है। इन चित्रों के माध्यम से कारीगर अपनी अभिव्यक्ति को दर्शाता है। ऐसी कारीगरी द्वारा आप इस व्यवसाय में काफी सफलता प्राप्त कर सकते हैं।  

पोशाक Garments

यदि आप इस क्षेत्र में अपना व्यवसाय शुरू करना चाहते हैं तो आपको पता होना चाहिए कि भारतीय पोशाक विदेशी बाज़ार में भी अपनी छाप छोड़े हुए हैं, यह आपकी सफलता का एक अच्छा सूत्र Source साबित हो सकता है। पोशाकों पर निर्मित तरह तरह की डिज़ाइन इसका मुख्य कारण है जैसे एम्ब्रोइडरी Embroidery, जरी बूटी इत्यादि। यही कारण है की इंडिया की कपड़ा इंडस्ट्री Garment Industry विश्व विख्यात है क्योंकि भारत के कारीगरों द्वारा की गई डिज़ाइन जरी-बूटी इत्यादि को हर जगह पसंद किया जाता है। 

कागज़ी उत्पाद Paper Products: 

इंडिया की पेपर इंडस्ट्री Paper Industry हमेशा से अपने उत्पाद Products बाहरी देशों को निर्यात करती रही है, और यही कारण है की इंडस्ट्री द्वारा बनाये जाने वाले उत्पाद Products विश्व विख्यात हैं। इनमें श्रेणी में मुख्य रूप से पेपर से निर्मित सजावट का सामान और टेबल पे रखने वाली वस्तुए आदि आती हैं। 

फर्नीचर उत्पाद Furniture Products : 

दुनिया भर में भारतीय फर्नीचर को काफी पसंद किया जाता है। इस श्रेणी में मुख्य रूप से बेड, स्टूल, कुर्सियां, मिरर फ्रेम्स, होम टेम्पल्स, सोफे इत्यादि आते हैं। यदि आप इसमें अपना हाथ आजमाना चाहते हैं तो ये श्रेणी एक अच्छा विकल्प हो सकती है। यह बिज़नेस आपको विदेशों से भी सफलता दिलाएगा।

इसी विषय से सम्बंधित एक अन्य लेख को पढ़ने के लिए कृपया नीचे  दिए लिंक को क्लिक करे-

https://www.thinkwithniche.in/blogs/details/handicraft-industry

 

TWN In-Focus