पुरानी चीज़ों से बनता नया व्यवसाय

1122
11 Jan 2022
5 min read

Post Highlight

अब बाज़ार में एक नया शब्द अधिक प्रसिद्ध होता जा रहा है-Market of antiques यानी पुरानी वस्तुओं के प्रति  बढ़ता लोगो का आकर्षण। चाहे मोमबत्तियों के नए collection, पुरानी लालटेन में नई नक़्क़ाशी आदि। । यदि पुरातन कलाकृतियों से व्यवसाय शुरू करने की इच्छा है तो यह भी बहुत अच्छा विचार है आप अपना store बाज़ार में खोलकर उसका local और offline व्यवसाय कर सकतें हैं। जब इतने सारे मौके और विकल्प हैं तो जीवन में जगह दीजिये इन antique collections को। आइये समझ लेते हैं की किस हद तक यह antiques का आकर्षण बाज़ार में और लोगों के मन, मस्तिष्क पर छाया है

Podcast

Continue Reading..

हमसभी ने अपने-अपने घरों में किसी न किसी से यह ज़रूर सुना है कि ''हमारे ज़माने में तो ऐसी चीज़ें होती थी या हम तो लालटेन प्रयोग करते थे या कोई पुराना किस्सा जो किसी पुरानी वस्तु से जुड़ा होगा। शायद यही कारण है कि अब बाज़ार में एक नया शब्द अधिक प्रसिद्ध होता जा रहा है-Market of antiques यानी पुरानी वस्तुओं के प्रति बढ़ता लोगो का आकर्षण। चाहे मोमबत्तियों के नए collection, पुरानी लालटेन में नई नक़्क़ाशी आदि। आइये समझ लेते हैं की किस हद तक यह antiques का आकर्षण बाज़ार में और लोगों के मन, मस्तिष्क पर छाया है। 

online बाज़ार पर बिक्री -

आजकल हर कोई अपने घर, कार्यस्थल, रसोईंघर और विशेष अवसरों की सजावट को किसी ख़ास theme के जोड़कर ही रखना चाहता है क्यूंकि आजकल एक ख़ास चलन है -पुरानी या ऐतिहासिक वस्तुओं को एकत्र करना और उसे अपने चुनिंदा कलाकृतियों में शामिल करना। यही शौक है जिसने online shopping apps पर अपनी बड़ी छाप छोड़ी है। पूजा की थाली, खूबसूरत दीयों का collection, मिट्टी की कलाकृतियाँ, पुरानी नक़्क़ाशियों के काम से सजे फ़र्नीचर। आप जो कुछ भी चाहें या सोचें, सबकुछ आपको एक click पर antique collections में मिल जाता है और काफ़ी बिक्री भी होती है। amazon, flipkart, meesho लगभग सभी online shopping app पर पुरानी designs की वस्तओं की भरमार है और demand  भी। 

प्राचीन संस्कृतियों से जोड़ता हर सामान -

मंदिर की कल्पना करने से पहले आजकल सभी यह सोचने में लग जाते हैं कि कौन-कौन से antique बनावट के सामान एकत्र करने हैं, यहाँ तक कि देवी-देवताओं की मूर्तियाँ की बनावट भी अपनी पसंद के अनुसार ही चुनी जाती है, इसलिए उनके collection भी अनगिनत मिलते हैं। कहीं-कहीं gramophones रखने के शौक़ीनों के लिए भी विकल्प हैं। शाही महलों के शौक़ीनों के लिये वैसे ही प्रकार की प्रतियां जैसे- पर्दें, कुर्सियाँ, कपडे, आभूषण भी कम दाम पर online उपलब्ध रहतें है। 

खुद का व्यवसाय भी देता है फायदा

यदि आपको पुरातन कलाकृतियों से व्यवसाय शुरू करने की इच्छा है तो यह भी बहुत अच्छा विचार है आप अपना store बाज़ार में खोलकर उसका local और offline व्यवसाय कर सकतें हैं और अपनी website बनाकर और online apps पर भी अपने उत्पादों की बिक्री कराकर मुनाफा कमा सकते हैं और इस तरह से आप online बाज़ार में उतरकर digital market से भी जुड़ेंगे। इससे आपके शहर या देश से बाहर के ग्राहक भी आपसे जुड़ सकेंगें। 

उत्पादों की कीमत समझें -

यह समझना उतना ही आसान है जितना यह समझना कि एक हाथों से बुनी हुई कालीन का मूल्य किसी भी और पुरातन वस्तु के मूल्य से अलग होगा क्यूँकि इस कालीन में हस्तकला काऱीगर का मूल्य, उसे store तक पहुँचाने का मूल्य सभी कुछ जुड़ा होता है। इसलिए सभी antiques के मूल्य एक जैसे नहीं हो सकते, सभी प्रकार की कला का सम्मान करना भी ज़रूरी है और सही तरीके से सही वस्तुओं को ग्राहकों तक पहुँचाना भी। लेकिन अगर online shopping app से खरीद रहे हो तो भी एक समझदार ग्राहक की तरह सभी में तुलना कर लें क्यूँकि लगभग एक ही वस्तु सभी apps पर उपलब्ध रहती है लेकिन उनके quality और मूल्य में फर्क होता है। 

पुरातन कलाओं ने दिये हैं नए अवसर छोटे उद्योगों को -

जितने भी कारीगर या हस्तकलाकार दुनिया के कोने-कोने में बसे हैं, कोई भी antique store हो चाहे online या offline, यह इन छोटे-छोटे कारीगरों से सम्पर्क करके उनके काम को लोगों तक पहुँचाते हैं और इस तरह से वह खुद भी मुनाफ़ा कमातें हैं और इन स्थानीय कलाओं को भी सम्मान मिलता है. अब तो भारत सरकार skill development योजना के अंतर्गत ऐसी कलाओं को बढ़ावा भी दे रही हैं। 

सजाइये अपने जीवन को कलाकृतियों से -

बालकनी की सजावट हो, आभूषण हो या पुराने फर्नीचर से घर को नया रूप देना हो। ऐसा नहीं है कि यह कोई नए या अनोखे उत्पाद हैं। बात सिर्फ इतनी सी है, हर बार समय बदलता है और समय के साथ पहनावा, सजावट और रहन-सहन भी। जो आज हमारे लिए antique है वो आज से कुछ वर्षों पहले तक लोगों के आम  जीवन का हिस्सा था, अब से कुछ वर्षों बाद फिर से कुछ और नया चलन आ जाएगा, पर यही पुरानी चीज़ें कहीं न कहीं हम सभी को पुरानी यादों और वक्त से जोड़कर रखती है। यही तो कारण है कि कुछ पुराने चित्रों की भी बड़ी प्रदर्शनी (Auction ) लगती है और मनचाहे दामों पर बेचा भी जाता है। 

digital media द्वारा antiques को बढ़ावा -

ऐसी बहुत सारी websites है जो antique collection बेचती भी है और resell भी करती हैं। pintrest पर तो आपको antique बनावट की एक से एक तस्वीरें मिलेंगी। instagram पर तो कई सारी पुरानी antique सामानों के stores ने अपनी profile भी बनाई है, जैसे- जयपुर आर्ट गैलरी Jaipur art gallery अगर आपके पास भी बहुत सारे पुरातन बनावट की वस्तुएँ हैं तो उन्हें किसी कोने में रखने की बजाय अपने आस पास की सजावट में रौशनी बिखेरिये या यह आपका खुद का startup व्यवसाय भी बन सकता है। digitization ने तो पुरे दुनिया की दूरियाँ भी कम कर दी हैं। आप अपने उत्पादों को की बिक्री amazon seller द्वारा करवा सकते हैं। meesho app भी ऐसे ही सेलर बनने का मौका देता है या फिर आप अपने उत्पादों की social media profile बनाकर भी आसानी से लोगों को खुद से जोड़ सकतेँ हैं। अगर संचार और तकनीक में अच्छे हैं तो खुद की antique store की website भी बना सकतें हैं या youtube पर video भी बना सकतें है अपने स्टोर का। 

जब इतने सारे मौके और विकल्प हैं तो जीवन में जगह दीजिये इन antique collections को। 

TWN Special